close this ads

शनिश्चरी अमावस्या २०१९


Updated: Nov 01, 2018 07:12 AM About | Dates | Hindi | About Shanidev


आने वाले त्यौहार: 3 June 2019
शनिश्चरी अमावस्‍या, सूर्यदेव और देवी छाया के पुत्र भगवान शनि के अवतरण दिवस के रूप में मनाया जाता है, इस उत्सव को शनि जयंती भी कहा जाता है।

शनिश्चरी अमावस्‍या, सूर्यदेव और देवी छाया के पुत्र भगवान शनि के अवतरण दिवस के रूप में मनाया जाता है, इस उत्सव को शनि जयंती भी कहा जाता है। श्री शनि, शनि ग्रह को नियंत्रित करते हैं, और इनकी मुख्यतया शनिवार के दिन पूजा व अर्चना की जाती है। श्री शनिदेव को न्याय का देवता माना जाता है। श्री हनुमान जी ने रावण की कैद से शनिदेव को मुक्त कराया था, इसलिए शनिदेव के कथनानुसार, जो भी भक्त श्री हनुमंत लाल की पूजा करते हैं, वे भक्त शनि देव के अति प्रिय और कृपा पात्र होते हैं। अतः शनिदेव के साथ-साथ हनुमान जी की पूजा का भी विधान माना गया है।

संबंधित अन्य नाम
शनिश्चरी अमावस्‍या, शनि अमावस्या, शनिश्चरा जयंती, शनि जयंती
Available in English - Shanishchari Amavasya
Shanishchari Amavasya is avtaran divas of Suryadev and Devi Chayas son Lord Shani, misconceptual this festival is also known as Shani Jayanti.

श्री शनिदेव के नाम

शनि देव को कोणस्थ, पिंगल, बभ्रु, रौद्रान्तक, यम, सौरि, शनैश्चर, मंद, पिप्पलाश्रय नाम से भी जाना जाता है।

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
22 May 202010 June 202130 May 202219 May 2023
आवृत्ति
Yearly / Annual
समय
1
सुरुआत तिथि
Jyeshtha Krishna Amavasya
समाप्ति तिथि
Jyeshtha Krishna Amavasya
महीना
May / June
मंत्र
ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः।, ऊँ शं शनैश्चाराय नमः।
कारण
Avtaran/Birth Anniversary of Shri Shani Dev.
उत्सव विधि
Fast, Dan, Shani Tailabhishekam, Shani Shanti Puja, Prayers/Havan/Yagya in Shri Shani Temple.
महत्वपूर्ण जगह
Kokilavan Dham Shani Dev Temple Uttar Pradesh, Saniswaran Temple Thirunallar Puducherry, Shani Shignapur Maharashtra.
पिछले त्यौहार
15 May 2018, 25 May 2017, 5 June 2016

अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!
* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें
^
top