गुड़ की खीर बनाने की विधि (Gur Ki Kheer Recipe)

बनाने की विधि:
चावलों को अच्छी तरह साफ पानी में धोकर आधा घण्टे के लिए भिगोने के लिए रख देते हैं। एक भारी तली बाले एक बर्तन( जैसे: भगौना) में दूध को मध्यम आंच पर गर्म करने रख देते हैं। अब एक चमचे की सहायता से दूध को चलाते रहते हैं। ताकि दूध बर्तन की तली में ना जल जाए। जब दूध में अच्छी तरह उबाल आजाए, तब गैस को धीमा कर लेते हैं और दूध में चावल डाल देते हैं। तथा एक चमचे की सहायता से चावलों को बीच-बीच में चलाते रहते हैं। १५ से २० मिनट पकने के बाद जब चावल नरम हो जाए तब इसमें कटे हुए मेवे (काजू, बादाम, चिरौंजी, किसमिस, आदि) डालकर १० से १५ मिनट तक और पकने देते हैं। जब खीर अच्छी तरह पक जाए तब इसमें इलाइची पाउडर डाल देते हैं। अब गैस को बन्द कर देते हैं और खीर को ठंडा होने देते हैं।

अब एक बर्तन में गुड़ को थोड़े से पानी के साथ धीमी आंच पर गर्म करते हैं। जब गुड़ अच्छी तरह पिघल जाए फिर गैस को बन्द कर देते हैं, और पिघले हुए गुड़ के पानी को छलनी की सहयता से छान लेते हैं। इस पानी को ठंडी खीर में डाल कर अच्छी तरह मिला देते हैं। इस प्रकार भोग के लिए गुड़ की खीर बन कर तैयार हो जाती है।

आवश्यक सामग्री:
चावल, दूध, गुड़, पानी
मेवा: काजू, बादाम, चिरौंजी, किसमिस, इलाइची

Gur Ki Kheer Recipe in English

..In this way, gur ki kheer is ready for indulgence.
यह भी जानें

Bhog-prasad Kheer Bhog-prasadChhath Puja Bhog-prasad

अगर आपको यह bhog-prasad पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस bhog-prasad को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

वृंदावन पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

बेसन के लड्‍डू बनाने की विधि

बेसन के लड्‍डू गजानन श्री गणेश को अति प्रिय हैं, अतः इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान खूब होता है, आइए जानते हैं इन्हें बनाने की सरल विधि...

साबूदाने की खीर बनाने की विधि

...इस प्रकार भोग के लिए आपकी साबुदाने की खीर बन कर तैयार हो गई।

सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि

सिंघाड़े का हलवा बन कर तैयार हो जाता है। कतलियों को अपने स्वादानुसार काजू अथवा बादाम 1-1 चम्मच से सजा लेते हैं।

चूरमा के लड्‍डू बनाने की विधि

इस प्रकार भोग के लिए चूरमा के लड्डू तैयार हो जाते हैं...

सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

🔝