मावा के मोदक बनाने की विधि (Mawa Ke Modak Recipe)


मोदक श्री गणेश के सबसे प्रिय मिष्ठान हैं, अतः इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान भोग लगाने में किया जाता है, आइए जानते हैं इन्हें बनाने की सरल विधि...

बनाने की विधि:
सबसे पहले एक कढ़ाई में एक चम्मच घी डालकर धीमी आंच पर काजू, मखाने व बादाम को भून लें। अब इन सभी को पीस कर पाउडर बना लेते हैं इसके पश्चात उसी कढ़ाई में एक-दो चम्मच घी डालकर धीमी आंच पर मावा को भी हल्का भून लेते हैं। अब मावा को एक बर्तन में ठंडा होने के लिए निकाल लेते हैं। जब मावा गुनगुना हो जाए, तब इसमें बूरा, मेवा(काजू, बादाम, मखाने) पावडर व इलाइची पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिला लेते हैं। मावा के मिश्रण को मोदक बनाने वाले साँचे मे रख कर, मोदक का आकार देते है। इस प्रकार से मावा के मोदक भोग लगाने के लिए तैयार हो जाते हैं।

आवश्यक सामग्री:
मावा, घी, बूरा
मेवा: काजू, बादाम, मखाने, इलाइची

संबंधित अन्य नाम:
खोया के मोदक

Mawa Ke Modak Recipe in English

Modak is the most lovable sweet of Lord Ganesha that's why it is used for their indulgence...
यह भी जानें

Bhog-prasadModak Bhog-prasadMawa Modak Bhog-prasadGaneshotsav Bhog-prasad


अगर आपको यह bhog-prasad पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस bhog-prasad को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! पंचामृत बनाने की सरल विधि..

सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

खोया-तिल के लड्डू बनाने की विधि

...तिल से चिट-चिट की आवाज आना बंद होज़ाये तो समझिए सारे तिल भुन गये हैं।

तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि

...जब मिश्रण हल्का गरम हो तभी लड्डू बना लें ठंडा होने पर लड्डू नहीं बन पाएँगे | Makar Sankranti Sweets

पारंपरिक मोदक बनाने की विधि!

इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान भोग लगाने में किया जाता है, आइए जानते हैं पारंपरिक तरीके से मोदक बनाने की सरल विधि...

चावल की पारंपरिक खीर बनाने की विधि

सबसे पहले चावलों को अच्छी तरह धोने के बाद आधा घण्टे के लिए भिगोने रख देते हैं।

बालभोग बनाने की सरल विधि

जन्माष्टमी, कथा आदि के बाद प्रसाद के रूप में प्रयोग होने वाले बालभोग को बनाने की सरल विधि..

🔝