Download Bhakti Bharat APP
Chaitra Navratri Specials 2024 - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel - Hanuman Chalisa - Om Jai Jagdish Hare Aarti -

कार्तिक मास 2024 (Kartik Maas 2024)

कार्तिक मास हिंदू कैलेंडर का आठवां महीना है, जो ग्रेगोरियन कैलेंडर के अक्टूबर और नवंबर में आता है। भारत के राष्ट्रीय नागरिक कैलेंडर में, कार्तिक वर्ष का आठवां महीना है।
कार्तिक मास का महत्व
भगवान विष्णु के प्रिय महीनों में से एक कार्तिक का महीना हिंदू धर्म में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। पूरे कार्तिक मास में स्नान, दान और भगवत पूजन किया जाता है, जगत के पालनहार भगवान विष्णु ने उन्हें अक्षय फल देने वाला महीना बताया है। कार्तिक मास की महिमा का वर्णन करते हुए स्वयं भगवान ब्रह्मा कहते हैं कि कार्तिक मास सभी मासों में श्रेष्ठ है और कार्तिक मासों में, भगवान विष्णु देवताओं में तथा नारायण तीर्थ (बद्रिकाश्रम) तीर्थों में श्रेष्ठ हैं।

कार्तिक मास का पर्व
'न कार्तिकसमो मासो न कृतेन सामं युगं, न वेदं सदृशं शास्त्रं न तीर्थ गंगाय समं' अर्थात् कार्तिक के समान कोई मास नहीं, सतयुग के समान कोई युग नहीं, वेद के समान कोई शास्त्र नहीं और गंगा के समान कोई तीर्थ नहीं। इस मास से देव तत्व प्रबल हो जाता है। इस महीने में भगवान विष्णु के साथ तुलसी की पूजा करना फलदायी माना गया है। इसके अलावा इस मास में गंगा स्नान, दीपदान, यज्ञ, दान आदि करने से सभी संकटों से मुक्ति मिलती है। इस पूरे महीने में दिवाली, छठ पूजा, धनतेरस, तुलसी विवाह, वैकुंठ चतुर्दशी, देव दिवाली कार्तिक पूर्णिमा जैसे त्योहार मनाए जाते हैं।

कार्तिक मास 2024
इस वर्ष कार्तिक मास की गणना 18 अक्टूबर से 15 नवंबर 2024 तक है।

कार्तिक मास 2024 व्रत, त्यौहार, जयंती और उत्सव
20 अक्टूबर रविवार 2024 - करवा चौथ, वक्रतुण्ड संकष्टी चतुर्थी
24 अक्टूबर गुरुवार 2024 - अहोई अष्टमी, राधा कुंड स्नान
28 अक्टूबर सोमवार 2024 - गोवत्स द्वादशी, रमा एकादशी
29 अक्टूबर मंगलवार 2024 - धनतेरस, प्रदोष व्रत
30 अक्टूबर बुधवार 2024 - काली चौदस
31 अक्टूबर गुरुवार 2024 - नरक चतुर्दशी
01 नवंबर शुक्रवार 2024 - दर्श अमावस्या, अनवधान, कार्तिक अमावस्या, लक्ष्मी पूजा, दीवाली
02 नवंबर शनिवार 2024 - गोवर्धन पूजा, इष्टी
03 नवंबर रविवार 2024 - भैया दूज, चंद्र दर्शन
06 नवंबर बुधवार 2024 - लाभ पञ्चमी
07 नवंबर गुरुवार 2024 - छठ पूजा
09 नवंबर शनिवार 2024 - गोपाष्टमी
10 नवंबर रविवार 2024 - अक्षय नवमी
11 नवंबर सोमवार 2024 - कंस वध, भीष्म पंचक प्रारंभ
12 नवंबर मंगलवार 2024- देवउत्थान एकादशी
13 नवंबर बुधवार 2024 - तुलसी विवाह, प्रदोष व्रत
14 नवंबर गुरुवार 2024 - वैकुंठ चतुर्दशी, विश्वेश्वर व्रत
15 नवंबर शुक्रवार 2024 - मणिकर्णिका स्नान, देव दीवाली, कार्तिक पूर्णिमा, अनवधान

Kartik Maas 2024 in English

Kartik Maas is the eighth month of the Hindu calendar, which falls in October and November of the Gregorian calendar. In India's national civil calendar, Kartika is the eighth month of the year.
यह भी जानें

Blogs Kartik Maas BlogsHindu Pavitra Maas BlogsBhagwan Vishnu BlogsDiwali BlogsBhaidooj BlogsChhath Puja BlogsDhanteras BlogsTulsi Vivah Blogs

अगर आपको यह ब्लॉग पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

Whatsapp Channelभक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस ब्लॉग को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

राम नवमी का महत्व क्या है?

राम नवमी को भगवान राम के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

भगवान श्री विष्णु के दस अवतार

भगवान विष्‍णु ने धर्म की रक्षा हेतु हर काल में अवतार लिया। भगवान श्री विष्णु के दस अवतार यानी दशावतार की प्रामाणिक कथाएं।

तिलक के प्रकार

तिलक एक हिंदू परंपरा है जो काफी समय से चली आ रही है। विभिन्न समूह विभिन्न प्रकार के तिलकों का उपयोग करते हैं।

नवरात्रि में कन्या पूजन की विधि

नवरात्रि में विधि-विधान से मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इसके साथ ही अष्टमी और नवमी तिथि को बहुत ही खास माना जाता है, क्योंकि इन दिनों कन्या पूजन का भी विधान है। ऐसा माना जाता है कि नवरात्रि में कन्या की पूजा करने से सुख-समृद्धि आती है। इससे मां दुर्गा शीघ्र प्रसन्न होती हैं।

चैत्र नवरात्रि विशेष 2024

हिंदू पंचांग के प्रथम माह चैत्र मे, नौ दिनों तक चलने वाले नवरात्रि पर्व में व्रत, जप, पूजा, भंडारे, जागरण आदि में माँ के भक्त बड़े ही उत्साह से भाग लेते है। Navratri Dates 9 April 2024 - 16 April 2024

वैशाख मास 2024

वैशाख मास पारंपरिक हिंदू कैलेंडर में दूसरा महीना होता है। यह महीना ग्रेगोरियन कैलेंडर में अप्रैल और मई के साथ मेल खाता है। आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र में इसे दूसरे महीने के रूप में गिना जाता है। गुजराती कैलेंडर में, यह सातवां महीना है। पंजाबी, बंगाल, असमिया और उड़िया कैलेंडर में वैशाख महीना पहला महीना है।

तिलक लगाने के पीछे क्या कारण है?

तिलक लगाना हिंदू परंपरा में इस्तेमाल की जाने वाली एक विशेष रस्म है।

Hanuman Chalisa -
Ram Bhajan -
×
Bhakti Bharat APP