भजन: राधिके ले चल परली पार! (Radhike Le Chal Parli Paar)


गलियां चारों बंद हुई,
मिलूं कैसे हरी से जाये ।
ऊंची नीची राह रपटीली,
पाओ नहीं ठहराए ।
सोच सोच पग धरु जतन से,
बार बार डिग जाये ।
अब राधे के सिवा कोई न,
परली पार लागए ।
परली पार लागए,
परली पार लागए,
परली पार लागए ।

राधिके ले चल परली* पार,
राधिके ले चल परली पार
जहाँ विराजे नटवर नागर,
जहाँ विराजे नटवर नागर
नटखट नन्द कुमार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

गुण अवगुण सब उनको अर्पण,
पाप पुन्य सब उनको समर्पण
मैं उनके चरनन की दासी,
मैं उनके चरनन की दासी
वो है प्राण आधार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

उनसे आस लगा बैठी हूँ,
लज्जा शील गवा बैठी हूँ
सवरिया मैं तेरी रागनी,
सवरिया मैं तेरी रागनी
तू मेरा मल्हार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

तेरे सिवा कुछ चाह नहीं है,
कोई सूझती राह नहीं है
मेरे प्रीतम मेरे मांझी,
मेरे प्रीतम मेरे मांझी
सुनए करुण पुकार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

आनदं धन यहाँ बरस रहा है,
पत्ता पत्ता हरस रहा है
बहुत हुई अब हार गई मैं,
बहुत हुई अब हार गई मैं
पड़ी पड़ी मझधार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

राधिके ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
जहाँ विराजे नटवर नागर,
जहाँ विराजे नटवर नागर
नटखट नन्द कुमार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

* परली: दूसरी छोर (other side of river)

Radhike Le Chal Parli Paar in English

Radhike Le Chal Parli Paar Kishori Le Chal Parli Paar, Shyama Chal Parli Paar
यह भी जानें

BhajanRadhashtami BhajanShri Radha Krishna BhajanShri Radha Rani BhajanJanmashtami BhajanBrij BhajanDevi Chitralekha Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: सजा दो घर को गुलशन सा

सजा दो घर को गुलशन सा, अवध मे राम आए है, मेरे सरकार आए हैं..

रामजी भजन: मंदिर बनेगा धीरे धीरे

रामजी का मंदिर बनेगा धीरे धीरे, सरयू के तीरे, सरयू के तीरे

भजन: बांटो बांटो मिठाई मनाओ ख़ुशी

बांटो बांटो मिठाई मनाओ ख़ुशी, मुँह मीठा करवाओ अवध वासियो, आज वन से अवध आ रहे है प्रभु..

भजन: मेरो कान्हा गुलाब को फूल

मेरो कान्हा गुलाब को फूल, किशोरी मेरी कुसुम कली ॥ कान्हा मेरो नन्द जू को छौना..

भजन: मुझे तूने मालिक, बहुत कुछ दिया है।

मुझे तूने मालिक, बहुत कुछ दिया है। तेरा शुक्रिया है, तेरा शुक्रिया है।

भजन: मेरा हाथ पकड़ ले रे, कान्हा..

मेरा हाथ पकड़ ले रे, कान्हा दिल मेरा घबराये, काले काले बादल..

भजन: तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे

तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे, तू लगे दूल्हा सा दिलदार सांवरे । मस्तक पर मलियागिरी चन्दन..

🔝