पितृ पक्ष | शारदीय नवरात्रि | शरद पूर्णिमा | आज का भजन!

भजन: राधिके ले चल परली पार! (Radhike Le Chal Parli Paar)


गलियां चारों बंद हुई,
मिलूं कैसे हरी से जाये ।
ऊंची नीची राह रपटीली,
पाओ नहीं ठहराए ।
सोच सोच पग धरु जतन से,
बार बार डिग जाये ।
अब राधे के सिवा कोई न,
परली पार लागए ।
परली पार लागए,
परली पार लागए,
परली पार लागए ।

राधिके ले चल परली* पार,
राधिके ले चल परली पार
जहाँ विराजे नटवर नागर,
जहाँ विराजे नटवर नागर
नटखट नन्द कुमार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

गुण अवगुण सब उनको अर्पण,
पाप पुन्य सब उनको समर्पण
मैं उनके चरनन की दासी,
मैं उनके चरनन की दासी
वो है प्राण आधार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

उनसे आस लगा बैठी हूँ,
लज्जा शील गवा बैठी हूँ
सवरिया मैं तेरी रागनी,
सवरिया मैं तेरी रागनी
तू मेरा मल्हार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

तेरे सिवा कुछ चाह नहीं है,
कोई सूझती राह नहीं है
मेरे प्रीतम मेरे मांझी,
मेरे प्रीतम मेरे मांझी
सुनए करुण पुकार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

आनदं धन यहाँ बरस रहा है,
पत्ता पत्ता हरस रहा है
बहुत हुई अब हार गई मैं,
बहुत हुई अब हार गई मैं
पड़ी पड़ी मझधार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

राधिके ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
जहाँ विराजे नटवर नागर,
जहाँ विराजे नटवर नागर
नटखट नन्द कुमार...

किशोरी ले चल परली पार,
राधिके ले चल परली पार
किशोरी ले चल परली पार,
श्यामा चल परली पार

* परली: दूसरी छोर (other side of river)

यह भी जानें

BhajanRadhashtami BhajanShri Radha Krishna BhajanShri Radha Rani BhajanJanmashtami BhajanBrij BhajanDevi Chitralekha Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: कभी धूप कभी छाँव!

सुख दुःख दोनों रहते जिस में, जीवन है वो गाओं, कभी धूप कभी छाँव

भजन: दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले..

दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले, तेरे दुःख दूर करेंगे राम । किये जा तू जग में भलाई का काम, तेरे दुःख दूर करेंगे राम ।

भजन: भारत के लिए भगवन का एक वरदान है गंगा!

भारत के लिए भगवन का, एक वरदान है गंगा, सच पूछो तो इस देश की पहचान है गंगा, हर हर गंगे, हर हर गंगे !

भजन: ऐसे मेरे मन में विराजिये!

ऐसे मेरे मन में विराजिये, कि मै भूल जाऊं काम धाम, गाऊं बस तेरा नाम...

भजन: मन तड़पत हरि दर्शन को आज

मन तड़पत हरि दर्शन को आज, मोरे तुम बिन बिगड़े सकल काज, विनती करत हूँ रखियो लाज..

भजन: गौरी के नंदा गजानन, गौरी के नन्दा

गौरी के नंदा गजानन, गौरी के नन्दा, म्हने बुद्धि दीजो गणराज गजानन, गौरी के नन्दा ॥

भजन: शंकर जी का डमरू बाजे

शंकर जी का डमरू बाजे, पार्वती का नंदन नाचे॥ बर्फीले कैलाशिखर पर जय गणेश की धूम

भजन: मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे!

मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे, भोले बाबा जी की आँखों के तारे, प्रभु सभा बीच में आ जाना आ जाना...

भजन: घर में पधारो गजानन जी!

घर में पधारो गजाननजी, मेरे घर में पधारो, ग्रह प्रवेश के समय गाए जाने वाला पॉपुलर श्री गणेश भजन...

भजन: गजानन करदो बेड़ा पार!

गजानन करदो बेडा पार, आज हम तुम्हे मनाते हैं, तुम्हे मनाते हैं, गजानन तुम्हे मनाते हैं॥

top