द्वारका, गुजरात के विश्व विख्यात मंदिर! (Top World Famous Temples Of Dwarka Gujarat)


द्वारका, गुजरात के विश्व विख्यात मंदिर!

द्वारका को "भगवान कृष्ण का घर" के रूप में जाना जाता है। द्वार, जिसका अर्थ संस्कृत में है, को स्वर्ग का प्रवेश द्वार माना जाता है और का अर्थ है 'मोक्ष' जिसका अर्थ है मोक्ष का द्वार। और इसलिए धार्मिक नगरी की आभा आध्यात्मिक पवित्रता और मोक्ष पाने वाले भक्तों के मंत्रों से गूंजती है। द्वारका एकमात्र शहर होने का दावा करता है जो चार धाम (चार प्रमुख पवित्र स्थान) का हिस्सा है और सप्त पुरियों (सात पवित्र शहरों) का भी हिंदू धर्म में उल्लेख है।

विश्व प्रसिद्ध द्वारका शहर गुजरात राज्य में भारत के पश्चिमी छोर पर स्थित है। अरब सागर के तट पर स्थित भगवान कृष्ण की कर्मभूमि के रूप में भी जाना जाता है।

यह स्थान 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक होने के लिए भी प्रसिद्ध है। द्वारका के प्रसिद्ध मंदिर जैसे द्वारकाधीश मंदिर, नागेश्वर ज्योतिर्लिंग, रुक्मणी मंदिर, गोमती घाट आदि आइए जानते हैं इस विश्वस्तरीय द्वारका के अन्य प्रसिद्ध मंदिर।

श्री बेट द्वारकाधीश मंदिर @Dwarka Gujarat

श्री बेट द्वारकाशी मंदिर, द्वारका द्वीप पर भगवान कृष्ण के निवास स्थान पर ही है, मंदिर में श्री कृष्ण की मूल मूर्ति उनकी पत्नी देवी रुक्मानी द्वारा स्थापित की गई है।


श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग @Dwarka Gujarat

श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग नागों के ईश्वर रूप में भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह गुजरात के द्वारका धाम से 17 किलोमीटर बाहरी क्षेत्र की ओर स्थित है।


द्वारका धाम @Dwarka Gujarat

द्वारका धाम सात मोक्ष पुरी में से एक माना जाता है। इन चार तीर्थों मे से एक भारत की पश्चिम दिशा मे द्वारका का यह श्री द्वारकाधीश मंदिर (ગુજરાતી: શ્રી દ્વારકાધીશ મન્દિર) है।


श्री मकरध्वज हनुमान मंदिर @Dwarka Gujarat

श्री मकरध्वज हनुमान मंदिर (ગુજરાતી: શ્રી મકાર્ધવજ હનુમાન મંદિર) पिता-पुत्र के आनंदपूर्ण मिलन का सर्वप्रथम मंदिर है। यह देवभूमि द्वारका जिले के अंतर्गत बेट द्वारका या शंखोधर द्वीप पर स्थित है। मंदिर के गर्भग्रह में प्रवेश करते ही आप पिता और पुत्र के दर्शन कर सकते हैं।


श्री रुक्मणी देवी मंदिर @Dwarka Gujarat

श्री रुक्मणी देवी मंदिर भगवान कृष्ण की प्रमुख पत्नी रुक्मिणी को समर्पित है, जिन्हें माता लक्ष्मी का अवतार माना जाता है। मंदिर द्वारका से बाहरी ओर लगभग 2 किलो मीटर की दूरी पर स्थित है।


श्री गायत्री शक्तिपीठ, द्वारका @Dwarka Gujarat

सन् 1983 से श्री गायत्री शक्तिपीठ द्वारिका मे माँ गायत्री का एक मात्र मंदिर है, जिसके साथ-साथ यहाँ धार्मिक यात्रियों के रुकने के लिए धर्मशाला भी जुड़ी हुई है।


श्री भड़केश्वर महादेव मंदिर @Dwarka Gujarat

लगभग पाँच हजारों साल पहिले अरब सागर मे स्वयं से प्रगट हुआ यह शिवलिंग आज श्री भड़केश्वर महादेव मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है।


बिरला गीता मंदिर @Dwarka Gujarat

बिरला गीता मंदिर! भगवद गीता के शिक्षाप्रद मूल्यों की रक्षा हेतु बिड़ला ग्रुप द्वारा स्थापित एक सरल, सुंदर और शान्तिमय मंदिर है, जैसा कि भारत के अन्य प्रमुख शहरों में बिड़ला मंदिर फैले हुए हैं।


श्री नरवाई माँ मंदिर @Dwarka Gujarat

श्री नरवाई माँ मंदिर (ગુજરાતી: શ્રી નરવાખાઈ માંનુ મંદિર) सोमनाथ से द्वारका जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर पोरबंदर जिले के गोसा गाँव मे 100 साल से स्थित है।


Top World Famous Temples Of Dwarka Gujarat in English

The world famous Dwarka city is situated on the western end of Gujarat and India both.
यह भी जानें
Dwarka Temple

List Shri Krishna Temples

अगर आपको यह ग्रूप ऑफ टेंपल्स पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस ग्रूप ऑफ टेंपल्स को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर

सूर्य देव के पुत्र श्री शनिदेव, नवग्रह के सदस्यों में से एक शनि ग्रह है। भक्त, साप्ताहिक दिन शनिवार को मुख्यतया इनकी पूजा-अर्चना करते हैं।

दिल्ली के आस-पास माता के प्रसिद्ध मंदिर

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम के शीर्ष मा आदि शक्ति, मां दुर्गा और मां काली मंदिरों की सूची...

सिरसागंज के प्रसिद्ध मंदिर!

सिरसागंज तथा उसके आस-पास के प्रसिद्ध मंदिरों की सूची नीचे देखी जा सकती है।

भारत के चार धाम

आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा परिभाषित चार वैष्णव तीर्थ हैं। बद्रीनाथ धाम, रामेश्वरम धाम, जगन्नाथ धाम, द्वारका धाम...

दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर

हनुमान जी श्री राम के बहुत बड़े भक्त हैं और भगवान शिव के अवतार हैं। हनुमान जी के माता-पिता का नाम अंजना और केसरी है इसलिए उन्हें अंजनी-पुत्रा और केसरी-नंदन कहा जाता है।

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग!

हिन्दू धर्म में पुराणों के अनुसार स्वयं शिवजी, शिवलिंग के रूप में १२ अलग-अलग स्थानों पर स्थापित हैं, जानिए भारत के 12 ज्योतिर्लिंग के बारे मे...

🔝