गुरु भजन: दर्शन देता जाइजो जी.. (Darshan Deta Jaijo Ji Satguru Milata Jaiyo Ji)


दर्शन देता जाइजो जी,
सतगुरु मिलता जाइजो जी ।
म्हारे पिवरिया री बातां थोड़ी म्हने,
केता जाइजो जी ॥

सोने जेडी पीळी पड़ गई,
दुनिया बतावे रोग ।
रोग दोग म्हारे काई नी लागे,
गुरु मिलण रो जोग ॥

म्हारे भाभे म्हने बींद बतायो
पकड़ बताई बाँह ।
कांई कहो में कांई न समझू,
जिव भजन रे माय ॥

म्हारे देश रा लोग भला है,
पेहरे कंठी माला ।
म्हारा लागे वे भाई-भतीजा,
राणाजी रा साला ॥

सासरियो संसार छोडियो,
पीव ही लागे प्यारो ।
बाई मीरा ने गिरधर मिलिया,
चरण कमल लिपटायो ॥

Darshan Deta Jaijo Ji Satguru Milata Jaiyo Ji in English

Darshan Deta Jaijo Ji, Sataguru Milta Jaijo Ji, Mhaare Pivariya Ri Baataan Thodi Mhane
यह भी जानें

BhajanGuru BhajanGurudev BhajanMarwadi BhajanRajasthani BhajanGuru Purnima BhajanVyasa Purnima BhajanPrakash Mali Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: शीश गंग अर्धंग पार्वती

शीश गंग अर्धंग पार्वती सदा विराजत कैलासी। नंदी भृंगी नृत्य करत हैं, धरत ध्यान सुर सुखरासी॥

शिव भजन: पार्वती तेरा भोला, जगत में..

पार्वती तेरा भोला, जगत में सबसे निराला है । जो मै होती गंगा जैसी..

इक दिन वो भोले भंडारी बन करके ब्रज की नारी!

इक दिन वो भोले भंडारी बन करके ब्रज की नारी, ब्रज/वृंदावन में आ गए।

प्रभु मेरे मन को बना दे शिवाला!

प्रभु मेरे मन को बना दे शिवाला, तेरे नाम की मैं जपूं रोज माला। अब तो मनो कामना है यह मेरी...

शिव पूजा में मन लीन रहे मेरा...

शिव पूजा में मन लीन रहे मेरा मस्तक हो और द्वार तेरा, मिट जाए जन्मों की तृष्णा मिले भोले शंकर प्यार तेरा।

भजन: चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो

चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो, हर हर हर महादेव की जय हो।

भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ

शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ। अंत काल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ॥

🔝