Download Bhakti Bharat APPJanmashtami Specials

गुरुदेव दया करके मुझको अपना लेना - भजन (Gurudev Daya Karke Mujhko Apna Lena)


गुरुदेव दया करके मुझको अपना लेना - भजन

मैं शरण पड़ा तेरी चरणों में जगह देना,
गुरुदेव दया करके मुझको अपना लेना ।

करूणानिधि नाम तेरा,
करुन दिखलाओ तुम,
सोये हुए भाग्यो को,
हे नाथ जगाओ तुम ।
मेरी नाव भवर डोले,
इसे पार लगा देना,
गुरुदेव दया करके,
मुझको अपना लेना ॥

जय गुरुदेवा, जय गुरुदेवा ।
जय गुरुदेवा, जय गुरुदेवा ॥

तुम सुख के सागर हो,
निर्धन के सहारे हो,
इस तन में समाये हो,
मुझे प्राणों से प्यारे हो ।
नित्त माला जपूँ तेरी,
नहीं दिल से भुला देना,
गुरुदेव दया करके,
मुझको अपना लेना ॥

पापी हूँ या कपटी हूँ,
जैसा भी हूँ तेरा हूँ,
घर बार छोड़ कर,
मैं जीवन से खेला हूँ ।
दुःख का मार हूँ मैं,
मेरा दुखड़ा मिटा देना,
गुरुदेव दया करके,
मुझको अपना लेना ॥

मैं सब का सेवक हूँ,
तेरे चरणों का चेरा हूँ,
नहीं नाथ भुलाना मुझे,
इसे जग में अकेला हूँ ।
तेरे दर का भिखारी हूँ,
मेरे दोष मिटा देना,
गुरुदेव दया करके,
मुझको अपना लेना ॥

इन चरनन की पाऊं सेवा,
जय गुरुदेवा, जय गुरुदेवा ।

Gurudev Daya Karke Mujhko Apna Lena in English

Main Sharan Pada Teri Charanon Mein Jagah Dena, Gurudev Daya Karke Mujhko Apna Lena
यह भी जानें

Bhajan Guru BhajanGurudev BhajanGuru Purnima BhajanVyasa Purnima BhajanSant Ravidas BhajanRavidas Jayanti Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

वो काला एक बांसुरी वाला - भजन

वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे। माखन चोर वो नंदकिशोर जो..

अब मैं सरण तिहारी जी - भजन

मीराबाई भजन - अब मैं सरण तिहारी जी, मोहि राखौ कृपा निधान ॥ अजामील अपराधी तारे, तारे नीच सदान..

जन्माष्टमी भजन - बड़ा नटखट है रे, कृष्ण कन्हैया

बड़ा नटखट है रे कृष्ण कन्हैया, का करे यशोदा मैय्या॥ बड़ा नटखट है रे...

उनकी रेहमत का झूमर सजा है - भजन

उनकी रेहमत का झूमर सजा है । मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया - भजन

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया, कोई हमदर्द तुमसा नहीं है, दुनिया वाले नमक है छिड़कते..

मेरो कान्हा गुलाब को फूल - भजन

मेरो कान्हा गुलाब को फूल, किशोरी मेरी कुसुम कली ॥ कान्हा मेरो नन्द जू को छौना..

श्री राधिका स्तव - राधे जय जय माधव दयिते

राधे जय जय माधव-दयिते, गोकुल-तरुणी-मंडल-महिते, दामोदर-रति-वर्धन-वेषे..

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App