भजन: धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक.. (Bhajan: Dhan Dhan Bholenath Bant Diye Teen Lok)


भजन: धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक..

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये,
तीन लोक इक पल भर में ।
ऐसे दीनदयाल मेरे दाता,
भरे खजाना पल भर में ॥

प्रथम वेद ब्रह्मा को दे दिया,
बना वेद का अधीकारी ।
विष्णु को दिये चक्र सुदर्शन,
लक्ष्मी सी सुंदर नारी ।
इन्द्र को दे दिये काम धेनु,
और ऐरावत सा बलकारी ।
कुबेर को सारी वसुधा का,
कर दिया तुमने भंडारी ।
अपने पास पात्र नहीं रक्खा,
रक्खा तो खप्पर कर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

अमृत तो देवताओं को दे दिये,
आप हलाहल पान करे ।
ब्रह्म ज्ञान दे दिया उसी को,
जिसने आपका ध्यान धरे ।
भागीरथ को गंगा दे दई,
सब जग ने अस्नान करे ।
ब़डे ब़डे पापियों को तारे,
पल भर में कल्याण करे ।
अपने तन पर वस्त्र न रक्खा,
मगन रहे बाघंबर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

.लंका ग़ढ रावन को दे दिये,
बीस भूजा दस सीश दिये ।
रामचंद्रजी को धनुष बान,
और हनुमान को गदा दिये ।
मन मोहन को मुरली दे दई,
मोर मुकुट बक्शीश किये ।
मुक्ती हेतु काशी में वास,
भक्तों को बिस्वाबीश किये ।
आप नशे में रहे चूर भोला,
भांग पिये नित खप्पर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

नारद जी को वीणा दे दई,
गंधर्वों को राग दिये ।
ब्राह्मण को दिया कर्म काण्ड,
और सन्यासी को त्याग दिये ।
जिसने आपका ध्यान लगाया,
उसको तो अनुराग दिये ।
देवी सींग कहे बनारसी को,
सबसे उत्तम भाग दिये ।
जिसने ध्याया उसी ने पाया,
महादेव तुम्हरे वर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये,
तीन लोक इक पल भर में ।
ऐसे दीनदयाल मेरे दाता,
भरे खजाना पल भर में ॥

Bhajan: Dhan Dhan Bholenath Bant Diye Teen Lok in English

Dhan Dhan Bholenath Bant Diye, Teen Lok Ik Pal Bhar Mein । Aise Deendayal Mere Data, Bhare Khajana Pal Bhar Mein
यह भी जानें

BhajanShiv BhajanBholenath BhajanMahadev BhajanShivaratri BhajanSavan BhajanMonday BhajanSomvar BhajanSolah Somvar BhajanPrembhushan Ji Bhajan

अन्य प्रसिद्ध भजन: धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक.. वीडियो

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक - श्री कृष्ण गोपाल सुवेदी


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: भगतो को दर्शन दे गयी रे

भगतो को दर्शन दे गयी रे, एक छोटी सी कन्या, छोटी सी कन्या, एक छोटी सी कन्या॥

शंकर तेरी जटा से बहती है गंग धारा

शंकर तेरी जटा से बहती है गंग धारा, काली घटा में चमके जैसे कोई सितारा..

माँ! मुझे तेरी जरूरत है।

माँ ! मुझे तेरी जरूरत है। कब डालोगी, मेरे घर फेरा, तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा...

सच्चा है माँ का दरबार, मैय्या का जवाब नहीं: भजन

सच्चा है माँ का दरबार, मैय्या का जवाब नहीं ॥ मैय्या है मेरी शेरोवाली..

वीरो के भी शिरोमणि, हनुमान जब चले: भजन

वीरो के भी शिरोमणि, बलवान जब चले, हनुमान जब चले

राम को देख कर के जनक नंदिनी: भजन

राम को देख कर के जनक नंदिनी, बाग में वो खड़ी की खड़ी रह गयी। यज्ञ रक्षा में जा कर के मुनिवर के संग...

फंसी भंवर में थी मेरी नैया - श्री श्याम भजन

फंसी भंवर में थी मेरी नैया, चलाई तूने तो चल पड़ी है । पड़ी जो सोई थी मेरी किस्मत..

🔝