धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक: भजन (Dhan Dhan Bholenath Bant Diye Teen Lok)


धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक: भजन

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये,
तीन लोक इक पल भर में ।
ऐसे दीनदयाल मेरे दाता,
भरे खजाना पल भर में ॥

प्रथम वेद ब्रह्मा को दे दिया,
बना वेद का अधीकारी ।
विष्णु को दिये चक्र सुदर्शन,
लक्ष्मी सी सुंदर नारी ।
इन्द्र को दे दिये काम धेनु,
और ऐरावत सा बलकारी ।
कुबेर को सारी वसुधा का,
कर दिया तुमने भंडारी ।
अपने पास पात्र नहीं रक्खा,
रक्खा तो खप्पर कर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

अमृत तो देवताओं को दे दिये,
आप हलाहल पान करे ।
ब्रह्म ज्ञान दे दिया उसी को,
जिसने आपका ध्यान धरे ।
भागीरथ को गंगा दे दई,
सब जग ने अस्नान करे ।
ब़डे ब़डे पापियों को तारे,
पल भर में कल्याण करे ।
अपने तन पर वस्त्र न रक्खा,
मगन रहे बाघंबर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

.लंका ग़ढ रावन को दे दिये,
बीस भूजा दस सीश दिये ।
रामचंद्रजी को धनुष बान,
और हनुमान को गदा दिये ।
मन मोहन को मुरली दे दई,
मोर मुकुट बक्शीश किये ।
मुक्ती हेतु काशी में वास,
भक्तों को बिस्वाबीश किये ।
आप नशे में रहे चूर भोला,
भांग पिये नित खप्पर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

नारद जी को वीणा दे दई,
गंधर्वों को राग दिये ।
ब्राह्मण को दिया कर्म काण्ड,
और सन्यासी को त्याग दिये ।
जिसने आपका ध्यान लगाया,
उसको तो अनुराग दिये ।
देवी सींग कहे बनारसी को,
सबसे उत्तम भाग दिये ।
जिसने ध्याया उसी ने पाया,
महादेव तुम्हरे वर में ॥
॥ धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये..॥

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये,
तीन लोक इक पल भर में ।
ऐसे दीनदयाल मेरे दाता,
भरे खजाना पल भर में ॥

Dhan Dhan Bholenath Bant Diye Teen Lok in English

Dhan Dhan Bholenath Bant Diye, Teen Lok Ik Pal Bhar Mein । Aise Deendayal Mere Data, Bhare Khajana Pal Bhar Mein
यह भी जानें

Bhajan Shiv BhajanBholenath BhajanMahadev BhajanShivaratri BhajanSavan BhajanMonday BhajanSomvar BhajanSolah Somvar BhajanPrembhushan Ji Bhajan

अन्य प्रसिद्ध धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक: भजन वीडियो

धन धन भोलेनाथ बॉंट दिये, तीन लोक - श्री कृष्ण गोपाल सुवेदी

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आदियोगी - दूर उस आकाश की गहराइयों में

दूर उस आकाश की गहराइयों में, एक नदी से बह रहे हैं आदियोगी...

उठो सोने वालों सबेरा हुआ है: भजन

उठो सोने वालों सबेरा हुआ है । वतन के फकीरों का फेरा हुआ है ॥ उठो अब निराशा निशा खो रही है..

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं: भजन

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम।

तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान: भजन

तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान। किसने जानी तेरी माया...

राम कहानी सुनो रे राम कहानी: भजन

राम कहानी सुनो रे राम कहानी। कहत सुनत आवे आँखों में पानी। श्री राम, जय राम, जय-जय राम...

प्रभु हम पे कृपा करना, प्रभु हम पे दया करना: भजन

प्रभु हम पे कृपा करना, प्रभु हम पे दया करना। बैकुंठ तो यही है, हृदय में रहा करना॥

जो भजे हरि को सदा: भजन

जो भजे हरि को सदा, सोहि परम पद पायेगा, देह के माला..

🔝