close this ads

भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ


शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ।
अंत काल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ॥

भोले शंकर की पूजा करो, ध्यान चरणों में इसके धरो।
हर हर महादेव शिव शम्भू, हर हर महादेव शिव शम्भू।
हर हर महादेव शिव शम्भू...

डमरू वाला है जग में दयालु बड़ा
दीन दुखियों का देता जगत का पिता॥
सब पे करता है ये भोला शंकर दया
सबको देता है ये आसरा॥

इन पावन चरणों में अर्पण आकर जो इक बार हुआ
अंतकाल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ
हर हर महादेव शिव शम्भू, हर हर महादेव शिव शम्भू।
हर हर महादेव शिव शम्भू...

नाम ऊँचा है सबसे महादेव का,
वंदना इसकी करते है सब देवता।
इसकी पूजा से वरदान पातें हैं सब,
शक्ति का दान पातें हैं सब।

नाथ असुर प्राणी सब पर ही भोले का उपकार हुआ।
अंत काल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ॥

शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ।
अंत काल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ॥

भोले शंकर की पूजा करो, ध्यान चरणों में इसके धरो।
हर हर महादेव शिव शम्भू, हर हर महादेव शिव शम्भू।
हर हर महादेव शिव शम्भू...

Read Also:
» कब, कैसे, कहाँ मनाएँ शिवरात्रि? | द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग!
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध शिव मंदिर - Famous Shiv Mandir of Delhi NCR
» दिल्ली और आस-पास के मंदिरों मे शिवरात्रि की धूम-धाम - Temple celebrates Shivratri in Delhi NCR
» आरती: श्री शिव, शंकर, भोलेनाथ | चालीसा: श्री शिव जी | भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ

By BhaktiBharat


If you love this article please like, share or comment!

भजन: वो काला एक बांसुरी वाला..

वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे। माखन चोर वो नंदकिशोर जो...

भजन: श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम!

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम, लोग करें मीरा को यूँ ही बदनाम साँवरे की बंसी को बजने से काम...

भजन: भोले के कांवड़िया मस्त बड़े मत वाले हैं

चली कांवड़ियों की टोली, सब भोले के हमजोली, गौमुख से गंगाजल वो लाने वाले हैं।

भजन: बजरंगबली मेरी नाव चली, करुना कर पार लगा देना।

बजरंगबली मेरी नाव चली, करुना कर पार लगा देना। हे महावीरा हर लो पीरा...

भजन: श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी...

श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी, तेरी लीला सबसे न्यारी न्यारी हरी हरी...

भजन: मेरो लाला झूले पालना, नित होले झोटा दीजो !

मेरो लाला झूले पालना, नित होले झोटा दीजो, नित होले झोटा दीजो, नित होले झोटा दीजो

भजन: शंकर जी का डमरू बाजे

शंकर जी का डमरू बाजे, पार्वती का नंदन नाचे॥ बर्फीले कैलाशिखर पर जय गणेश की धूम

भजन: गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में।

गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में। मोदक भोग लगाओ, श्री रामजी की धुन में॥

भजन: ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम। जिस दिन जुबा पे मेरी, आए ना शिव का नाम॥

बधाई भजन: बजे कुण्डलपर में बधाई, के नगरी में वीर जन्मे

नवजात शिशु के जन्म बधाई की खुशी मे यह गीत या भजन भारत के जैन समाज मे बहुत लोकप्रिय है!
बजे कुण्डलपर में बधाई, के नगरी में वीर जन्मे, महावीर जी
जागे भाग हैं त्रिशला माँ के, के त्रिभवन के नाथ जन्मे...

Latest Mandir

^
top