गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में: भजन (Ganapati Aaj Padharo Shri Ramaji Ki Dhun Me)


गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में: भजन

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।
गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

रामजी की धुन में,
श्री रामजी की धुन में ।
मोदक भोग लगाओ,
श्री रामजी की धुन में ॥

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

गणपति आज पधारो,
और रिद्धि सिद्धि लाओ ।
सुख आनंद बरसाओ,
श्री रामजी की धुन में ॥

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

हनुमंत आज पधारो,
देवा पवन वेग से आओ ।
बल बुद्धि दे जाओ,
श्री रामजी की धुन में ॥

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

ब्रम्हाजी पधारो,
माता ब्रम्हाणी को लाओ ।
वेद ज्ञान समझाओ,
श्री रामजी की धुन में ॥

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

नारद आज पधारो,
छम छम, छम कर ताल बजाओ ।
नारायण गुण गाओ,
श्री रामजी की धुन में ॥

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

प्रेम मगन हो जाओ भक्तो,
राम नाम गुण गाओ ।
सुर मंदिर में आओ,
श्री रामजी की धुन में ॥

गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।
गणपति आज पधारो,
श्री रामजी की धुन में ।

Ganapati Aaj Padharo Shri Ramaji Ki Dhun Me in English

Ramji Ki Dhun Mein, Shri Ramji Ki Dhun Mein । Modak Bhog Lagao, Shri Ramji Ki Dhun Mein
यह भी जानें

Bhajan Shri Ganesh BhajanShri Vinayak BhajanGanpati BhajanGanpati Bappa BhajanGaneshotsav Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

बाहुबली से शिव तांडव स्तोत्रम, कौन-है वो

कौन-है वो, कौन-है वो, कहाँ से वो आया, चारों दिशायों में, तेज़ सा वो छाया...

जो शिव को ध्याते है, शिव उनके है - भजन

जो शिव को ध्याते है, शिव उनके है, जो शिव में खो जाते है..

काशी वाले, देवघर वाले, जय शम्भू - भजन

काशी वाले देवघर वाले, भोले डमरू धारी। खेल तेरे हैं निराले, शिव शंकर त्रिपुरारी।

मेरे सोये भाग जगा भी दो - भजन

मेरे सोये भाग जगा भी दो, शिव डमरू वाले, शंकर भोले भाले ।..

राघवजी तुम्हें ऐसा किसने बनाया: भजन

ऐसा सुंदर स्वभाव कहाँ पाया, राघवजी तुम्हें ऐसा किसने बनाया । पर नारी पर दृष्टि न ड़ाली..

जन्मे अवध में राम मंगल गाओ री: भजन

जिस भजन में राम का नाम ना हो, उस भजन को गाना ना चाहिए।..

मुझे दास बनाकर रख लेना: भजन

मुझे दास बनाकर रख लेना, भगवान तू अपने चरणों में, मैं भला बुरा हूँ तेरा हूँ..

मंदिर

Download BhaktiBharat App