भजन: गाइये गणपति जगवंदन। (Gaiye Ganpati Jagvandan)


गाइये गणपति जगवंदन।
शंकर सुवन भवानी के नंदन॥

सिद्धि सदन गजवदन विनायक।
कृपा सिंधु सुंदर सब लायक॥ गाइये गणपति जगवंदन ॥

मोदक प्रिय मुद मंगल दाता।
विद्या बारिधि बुद्धि विधाता॥ गाइये गणपति जगवंदन ॥

मांगत तुलसीदास कर जोरे।
बसहिं रामसिय मानस मोरे॥ गाइये गणपति जगवंदन ॥

गाइये गणपति जगवंदन।
शंकर सुवन भवानी के नंदन॥

Read Also
» गणेशोत्सव - Ganeshotsav
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री गणेश मंदिर।
» आरती: श्री गणेश जी | गणपति श्री गणेश चालीसा | भोग आरती: श्री गणेश जी | आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो! | नामावलि: श्री गणेश अष्टोत्तर नामावलि
» पारंपरिक मोदक बनाने की विधि! | मावा के मोदक बनाने की विधि | बेसन के लड्‍डू बनाने की विधि

Gaiye Ganpati Jagvandan in English

Gaiye Ganapati Jagvandan। Shankar Suvan Bhavani Ke Nandan॥ Siddhi Sadan Gajvadan Vinayak।

BhajanShri Ganesh BhajanGanpati Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

मीरा बाई भजन: ऐ री मैं तो प्रेम-दिवानी

ऐ री मैं तो प्रेम-दिवानी, मेरो दर्द न जाणै कोय । दर्द की मारी बन-बन डोलूं, बैद मिल्यो नही कोई ॥

भजन: श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी..

श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवा॥

भजन: दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ!

दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ, जय बोलो जय माता दी, जो भी दर पे आए, जय हो...

हे माँ मुझको ऐसा घर दे...

हे माँ मुझको ऐसा घर दे, जिसमे तुम्हारा मंदिर हो, ज्योत जगे दिन रैन तुम्हारी, तुम मंदिर के अन्दर हो।

माँ! मुझे तेरी जरूरत है।

माँ ! मुझे तेरी जरूरत है। कब डालोगी, मेरे घर फेरा, तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा...

मात अंग चोला साजे..

मात अंग चोला साजे, हर रंग चोला साजे, मात की महिमा देखो, ज्योत दिन रैना जागे...

भजन: माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं!

माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं, किस मंजु ज्ञान से तू...

भजन: माँ सरस्वती! मुझको नवल उत्थान दो।

मुझको नवल उत्थान दो । माँ सरस्वती! वरदान दो ॥ माँ शारदे! हंसासिनी...

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा।

आ माँ आ तुझे दिल ने पुकारा। दिल ने पुकारा तू है मेरा सहारा माँ।।

मैं बालक तू माता शेरां वालिए!

मैं बालक तू माता शेरां वालिए, है अटूट यह नाता शेरां वालिए...

🔝