शिव शक्ति मंदिर, वसुंधरा - Shiv Shakti Mandir, Vasundhara

भगवान शिव, माता आदिशक्ति एवं मकर संक्रांति को समर्पित श्री शिव शक्ति संक्रांति मंदिर, वसुंधरा का सबसे बड़ा शिव-शक्ति मंदिर है।

मंदिर की स्थापना सन् 2001 के कालखंड मे वसुंधरा उप-शहर के स्थानीय भक्तों की साधना से हुआ है। मंदिर के वर्तमान पुजारी पंडित लक्ष्मीकांत द्विवेदी जी(7042231046) के तप का ही परिणाम है, कि मंदिर परिसर की दिव्यता दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है।

मंदिर के मुख्य द्वार पर लगे दो पवित्र वृक्ष क्रमशः दाहिनी ओर पीपल भगवान श्री वासुदेव तथा बाईं ओर वट वृक्ष साच्छात भगवान भोलेनाथ को स्थापित करते हैं। अतः मंदिर मे प्रवेश करते ही भक्तों को यहाँ के वायुमंडल मे फैली दिव्यता का आभास होना प्रारंभ हो जाता है।

प्रवेश द्वार से अंदर आते ही बाईं ओर माता शीतला का मंदिर और उसके चारों ओर रंग-बिरंगे पुष्प की छटा को देखकर, भक्ति-भारत के कैमरों ने भी स्वयं को नही रोक पाया। मंदिर के दाहिनी ओर उँचाई पर स्थापित भगवान शिव का धाम, उसके पश्चात श्री शनि धाम एवं हरे-भरे उपवन से घिरे नवग्रह धाम की शोभा बस मन मे बसाए रखने की रहती है।

जन्माष्टमी पर वृंदावन के प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा रासलीला का आयोजन किया जाता है, दोनो शिवरात्रि एवं नवरात्रि यहाँ बड़ी धूम-धाम से मनाए जाते हैं। मंदिर प्रांगण मे, प्रत्येक सोमवार, पूर्णिमा एवं एकादशी को शाम 5 से 6:30 तक महिला संकीर्तन तथा प्रत्येक मंगलवार को रात्रि 8 - 9 बजे तक अमृत वाणी पाठ का आयोजन जाता है।

मंदिर के चारों ओर फैली हरियाली, पेड़-पौधेऔर उनपर लधे नाना प्रकार के पुष्प, मंदिर के वातावरण को और भी सुगंधित एवं मनोरम बनाते हैं। मंदिर मे 5-7 ब्राह्मण के निवास की सुविधा भी उपलब्ध है। मंदिर द्वारा गरीब जन के निमित्त दान तथा अन्य सुविधाओं की व्यवस्था भी की जाती है।

प्रचलित नाम: श्री शिव शक्ति संक्रांति मंदिर

समय - Timings

दर्शन समय
गर्मी: 4:00 AM - 12:00 PM, 4:30 - 10:00 PM; शरद: 5:00 AM - 1:00 PM, 4:00 - 10:00 PM
6:00 AM: प्रभात आरती
6:30 PM : संध्या आरती

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
Temple Full View

Temple Full View

Seetala Mata

Seetala Mata

Shiv Mandir

Shiv Mandir

Baba Bhairav Nath

Baba Bhairav Nath

Navgrah Dham

Navgrah Dham

Panchmukhi Hanuman

Panchmukhi Hanuman

Shani Dham

Shani Dham

Shiv Dham

Shiv Dham

Shivling Gan

Shivling Gan

Shri Shiv

Shri Shiv

Styanarayan Bhagwan

Styanarayan Bhagwan

Surya Dev

Surya Dev

Temple

Temple

Temple Full View

Temple Full View

Temple Garden

Temple Garden

Shiv Shakti Mandir, Vasundhara in English

Largest Shiva-Shakti temple of Vasundhara Ghaziabad. A fragrant and captivating environment surrounded by greenery, trees and flowers.

जानकारियां - Information

धाम
Sheetala MataSurya DevShri Satyanarayan BhagwanShivling with Gan
Ram Mandir: Shri Sinduri HanumanShri Ram PariwarShri Radha KrishnaGauri ShankarAkhand JyotiMaa SarswatiMaa Bhagwati
Bhairav NaathShri Panchmukhi HanumanjiGram devta
Shani Dham: Shri Shani DevNavgrah Dham
Shiv MurtiYagyashalaMaa TulsiPeepalVat Vriksha
Tree: Pakhar TreeRudrakshBelpatraBadamCoconutBambooJamunAawalaSareefaKhajoorHarsringarNeebuAnd different flowers
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Prashad & Flower Shop, RO Water, Water Cooler, Hand Pump, Shoe Store, Power Backup, Shoe Store, Washrooms, CCTV Security, Sitting Benches, Music System, 8-10 Car Parking, Garden
धर्मार्थ सेवाएं
5-7 ब्राह्मण निवास
स्थापना
सन् 2001 के आस-पास
महंत
पंडित लक्ष्मीकांत द्विवेदी जी 📞 7042231046
समर्पित
श्री गौरी शंकर
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

क्रमवद्ध - Timeline

13 May 2013

सत्यनारायण भगवान की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा।

वीडियो - Video Gallery

Temple 360 View

Shri Navgrah Dham 360 View

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Sector 13, Vasundhara Ghaziabad Uttar Pradesh
रेलवे 🚉
Ghaziabad, Delhi
हवा मार्ग ✈
Indira Gandhi International Airport, New Delhi
नदी ⛵
Hindon, Yamuna
निर्देशांक 🌐
28.65294552720564°N, 77.3665705810005°E
शिव शक्ति मंदिर, वसुंधरा गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/shiv-shakti-mandir-vasundhara

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री सूर्य देव - ऊँ जय सूर्य भगवान

ऊँ जय सूर्य भगवान, जय हो दिनकर भगवान। जगत् के नेत्र स्वरूपा, तुम हो त्रिगुण स्वरूपा।

श्री खाटू श्याम जी आरती

ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे॥

श्री सूर्य देव - जय जय रविदेव।

जय जय जय रविदेव जय जय जय रविदेव। रजनीपति मदहारी शतलद जीवन दाता॥

🔝