हमारे साथ श्री रघुनाथ, तो किस बात की चिंता: भजन (Hamare Sath Shri Raghunath Too Kis Baat Ki Chinta)


हमारे साथ श्री रघुनाथ, तो किस बात की चिंता: भजन

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता।
शरण में रख दिया जब माथ तो किस बात की चिंता।
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता।

तेरे स्वामी, तेरे स्वामी, तेरे स्वामी,
तेरे स्वामी को रहती है, तेरे हर बात की चिंता।
॥ हमारे साथ श्री रघुनाथ तो...॥

न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की।
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की।
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की।

रहे हर स्वास, रहे हर स्वास, रहे हर स्वास
रहे हर स्वास में भगवान के प्रिय नाम की चिंता।
॥ हमारे साथ श्री रघुनाथ तो...॥

विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में।
विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में।
विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में।

उन्ही का हाँ, उन्ही का हाँ, उन्ही का हाँ
उन्ही का हाँ कर रहे गुण गान तो किस बात की चिंता।
उन्ही का हाँ कर रहे गुण गान तो किस बात की चिंता।
॥ हमारे साथ श्री रघुनाथ तो...॥

हुई भक्त पर किरपा, बनाया दास प्रभु अपना।
हुई भक्त पर किरपा, बनाया दास प्रभु अपना।
हुई भक्त पर किरपा, बनाया दास प्रभु अपना।

उन्ही के हाथ, उन्ही के हाथ, उन्ही के हाथ,
उन्ही के हाथ में अब हाथ तो किस बात की चिंता।
उन्ही के हाथ में अब हाथ तो किस बात की चिंता।
॥ हमारे साथ श्री रघुनाथ तो...॥

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता।
शरण में रख दिया जब माथ तो किस बात की चिंता।
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता।

Hamare Sath Shri Raghunath Too Kis Baat Ki Chinta in English

Hamare Saath Shri Raghunath Too Kis Baat Ki Chinta। Sharan Mein Rakh Diya Jab Maath Too Kis Baat ..
यह भी जानें

Bhajan Shri Ram BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navmi BhajanJanaki Jayanti Sundarkand BhajanRamayan Path BhajanVijayadashami BhajanMata Sita BhajanRam Sita Vivah BhajanShri Ram BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navami BhajanPrem Bhushan Ji Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

लाल लाल चुनरी सितारो वाली: भजन

लाल लाल चुनरी सितारों वाली, सितारो वाली, जिसे ओढकर आई है...

शेरोवाली के दरबार में रंग बरसे: भजन

रंग बरसे देखो रंग बरसे, शेरोवाली के दरबार में रंग बरसे, अम्बेवाली दे दरबार में रंग बरसे...

जयपुर की चुनरिया मैं लाई शेरावालिये: भजन

जयपुर की चुनरिया, मैं लाई शेरावालिये, आगरा से लहंगा, जयपुर से चुनरिया...

जयपुर से लाई मैं तो चुनरी: भजन

जयपुर से लाई मैं तो, चुनरी रंगवाई के, गोटा किनारी अपने..

भजन: मुखड़ा देख ले प्राणी, जरा दर्पण में

मुखड़ा देख ले प्राणी, जरा दर्पण में हो, देख ले कितना, पुण्य है कितना, पाप तेरे जीवन में, देख ले दर्पण में..

कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना!

कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना, मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना॥

राधा को नाम अनमोल बोलो राधे राधे।

राधा को नाम अनमोल बोलो राधे राधे। श्यामा को नाम अनमोल बोलो राधे राधे॥

मंदिर

Download BhaktiBharat App Go To Top