हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम: भजन (Humara Nahi Koi Re Tere Bina Ram)


हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम: भजन

हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे,
हमारा नहीं कोई रे, तेरे बिना राम

भाई बंधु सब कुटुंब कबीला
भाई बंधु सब कुटुंब कबीला
सहारा नहीं कोई रे, तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम

गहरी नदिया नाव पुरानी
गहरी नदिया नाव पुरानी
किनारा नहीं कोई रे, तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम

हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम
हमारा नहीं कोई रे,

Humara Nahi Koi Re Tere Bina Ram in English

Humara Nahin Koi Re, Tere Bina Ram, Bhai Bandhu Sab Kutumb Kabila..
यह भी जानें

Bhajan Shri Ram BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navmi BhajanSundarkand BhajanRamayan Path BhajanVijayadashami BhajanMata Sita BhajanRam Sita Vivah BhajanHari Om Sharan Bhajan

अन्य प्रसिद्ध हमारा नहीं कोई रे तेरे बिना राम: भजन वीडियो

चिन्टू सेवक

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

हे ज्योति रूप ज्वाला माँ: भजन

द्वारे तिहारे बड़ी भीड़ हो जगदम्बे-अम्बे, मैया द्वारे तेरे कन्या पुकारे...

हे शिव शंकर परम मनोहर: भजन

हे शिव शंकर परम मनोहर सुख बरसाने वाले, दुःख टालते भव से तार ते शम्भू भोले भाले..

शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी: भजन

शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी॥ निश दिन सिमरन करते, नाम पुण्यकारी॥

मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा: भजन

ॐ नमः शिवाय, सत्य है ईश्वर, शिव है जीवन, सुन्दर यह संसार है। तीनो लोक हैं तुझमे, तेरी माया अपरम्पार है॥

शिव अद्भुत रूप बनाए: भजन

शिव अद्भुत रूप बनाए, जब ब्याह रचाने आए। भुत बेताल थे..

दानी बड़ा ये भोलेनाथ, पूरी करे मन की मुराद!

दानी बड़ा ये भोलेनाथ, पूरी करे मन की मुराद, देख ले माँग के माँग के...

महल को देख डरे सुदामा: भजन

महल को देख डरे सुदामा, का रे भई मोरी राम मड़ईया, कहाँ के भूप उतरे..

मंदिर

🔝