close this ads

जय हो शिव भोला भंडारी!


जय हो शिव भोला भंडारी, लीला अपरंपार तुम्हारी,
लेके नाम, तेरा नाम, तेरे धाम आ गए,
तेरे भक्त पे संकट भारी, रक्षा कीजिये हे त्रिपुरारी,
लेके नाम, तेरा नाम, तेरे धाम आ गए,
॥ जय हो शिव भोला भंडारी...॥

मेरी विनती सुनो हे अवनाशी, किरपा करदो प्रभु घट-घट वासी,
अब तो लेलो खबर हमारी, तुम हो भक्तो के हितकारी,
लेके नाम तेरा नाम तेरे धाम आ गए,
॥ जय हो शिव भोला भंडारी...॥

मेरी नैया फसी प्रभु मझधार में, कोई तुमसा दयालु न संसार में,
माना पतित बड़ा भारी, भोले आप हो मंगलकारी,
लेके नाम तेरा नाम तेरे धाम आ गए,
॥ जय हो शिव भोला भंडारी...॥

आप के चरणों की धूल जो पाएंगे, सारे बदल वो दुःख के झट जायेगे,
तूने उसकी बिपदा टाली, आया शरण जो नाथ तुम्हारी,
लेके नाम तेरा नाम तेरे धाम आ गए,

जय हो शिव भोला भंडारी, लीला अपरंपार तुम्हारी,
लेके नाम, तेरा नाम, तेरे धाम आ गए,
तेरे भक्त पे संकट भारी, रक्षा कीजिये हे त्रिपुरारी,
लेके नाम, तेरा नाम, तेरे धाम आ गए,

ये भी जानें

BhajanShiv BhajanBholenath BhajanMahadev BhajanShivaratri BhajanLakkha Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

जो खेल गये प्राणो पे, श्री राम के लिए!

जो खेल गये प्राणो पे, श्री राम के लिए, एक बार तो हाथ उठालो, मेरे हनुमान के लिए...

भजन: राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

पार ना लगोगे श्री राम के बिना, राम ना मिलेगे हनुमान के बिना। राम ना मिलेगे हनुमान के बिना...

भजन: मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे!

मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे, भोले बाबा जी की आँखों के तारे, प्रभु सभा बीच में आ जाना आ जाना...

नाचे नन्दलाल, नचावे हरि की मईआ!

नाचे नन्दलाल, नचावे हरि की मईआ ॥ नचावे हरि की मईआ...

जेल में प्रकटे कृष्ण कन्हैया..

जेल में प्रकटे कृष्ण कन्हैया, सबको बहुत बधाई है, बहुत बधाई है...

कृष्ण जिनका नाम है...!

कृष्ण जिनका नाम है, गोकुल जिनका धाम है, ऐसे श्री भगवान को...

राम को देख कर के जनक नंदिनी

राम को देख कर के जनक नंदिनी, बाग में वो खड़ी की खड़ी रह गयी। यज्ञ रक्षा में जा कर के मुनिवर के संग...

राम को देख कर के जनक नंदिनी, और सखी संवाद!

राम को देख कर के जनक नंदिनी, बाग में वो खड़ी की खड़ी रह गयी। थे जनक पुर गये देखने के लिए...

राम सीता और लखन वन जा रहे!

श्री राम भजन वीडियो: राम सीता और लखन वन जा रहे, हाय अयोध्या में अँधेरे छा रहे...

भजन: कभी राम बनके, कभी श्याम बनके!

कभी राम बनके कभी श्याम बनके, चले आना प्रभुजी चले आना...

^
top