Download Bhakti Bharat APP
Download APP Now - Hanuman Chalisa - Om Jai Jagdish Hare Aarti - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel -

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा, हरी शरण आने के बाद - भजन (Kuch Nahi Bigadega Tera Hari Sharan Aane Ke Baad)


कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा, हरी शरण आने के बाद - भजन
कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।
कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।
हर ख़ुशी मिल जायेगी तुझे,
चरणों में झुक जाने के बाद ।
कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।
कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।
प्रेम के मंजिल के राही,
कष्ट पाते हैं मगर,
बीज़ फलता है सदा,
मिट्टी में मिल जानें के बाद,

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।

देख़कर काली घटा को,
ए भ्रमर मत हो निराश,
बंद कलियाँ भी खिलेंगी,
रात ढल जानें के बाद,

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।

पूछों इन फूलों से जाकर,
छाई है कैसे बहार,
कब तलाक काँटों पे सोया,
डाल पर आने के बाद,

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।

जब तलक है भेद मन में,
कुछ नहीं कर पायेगा,
रंग लाएगा ये साधन,
भेद मिट जाने के बाद,

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।

कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।
हर ख़ुशी मिल जायेगी तुझे,
चरणों में झुक जाने के बाद ।
कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।
कुछ नहीं बिगड़ेगा तेरा,
हरी शरण आने के बाद ।

Kuch Nahi Bigadega Tera Hari Sharan Aane Ke Baad in English

Kuch Nahin Bigdega Tera, Hari Sharan Aane Ke Baad । Har Khushi Mil Jayegi Tujhe..
यह भी जानें

Bhajan Shri Vishnu BhajanShri Ram BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navami BhajanVijay Dashami BhajanSunderkand BhajanRamcharitmanas Katha BhajanAkhand Ramayana BhajanVeerwaar BhajanBrihaspativar BhajanBrihaspati BhajanThursday BhajanGuruwar BhajanRajan Ji Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

Whatsapp Channelभक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

प्रथम गणराज को सुमिरूं, जो रिद्धि सिद्धि दाता है: भजन

सुनो शंकर सुवन मुझको, अबुद्धि ज्ञान दे जाओ, अँधेरे में भटकते को, धर्म की राह दिखलाओ, धर्म की राह दिखलाओ,
‘अनिल’ विनती करे उनकी, विनायक जो कहाता है, प्रथम गणराज को सुमिरूं, जो रिद्धि सिद्धि दाता है ॥

भर दों झोली मेरी गणराजा: भजन

अब तो सुन ले मेरी हो गणराजा, आ लगा ले तू मुझको भी दिल से, जब तलक तू मिला दे ना बिछड़ी, दर से तेरे न जाए सवाली, भर दों झोली मेरी गणराजा, लौटकर मै ना जाऊंगा खाली ॥

तेरे दरशन को गणराजा, तेरे दरबार आए है: भजन

सुना है ताजे फूलों के, तुम्हे गजरे सुहाते है, सुना है ताजे फूलों के, तुम्हे गजरे सुहाते है, बागों से ‘सुमन योगी’, सुगन्धित फुल लाए है,
तेरे दरशन को गणराजा, तेरे दरबार आए है ॥

मूषक सवारी लेके, आना गणराजा: भजन

मूषक सवारी लेके, आना गणराजा, रिद्धि सिद्धि को ले आना, आके भोग लगाना, मेरे आंगन में, आंगन में, मुषक सवारी लेके, आना गणराजा ॥

गौरी नंदन थारो अभिनंदन, करे सारो परिवार: भजन

गौरी नंदन थारो अभिनंदन, करे सारो परिवार, गजानन आन पधारो, लड़ावा लाड़ मैं थारो, गजानन आन पधारो, लड़ावा लाड़ मैं थारो ॥

मंगल मूर्ति रूप लेकर गणपति जी आ गए: भजन

मंगल मूर्ति रूप लेकर गणपति जी आ गए, भक्त जनों के दिल पर देवा दूर दूर तक छा गए, गणपति बप्पा मोरया मंगलमूर्ति मोरया ॥

प्रार्थना है यही मेरी हनुमान जी: भजन

प्रार्थना है यही मेरी हनुमान जी, मेरे सर पर भी अब हाथ धर दीजिए, राम सीता का दर्शन कराके मुझे, मेरे सपने को साकार कर दीजिए,
प्रार्थना हैं यही मेरी हनुमान जी, मेरे सर पर भी अब हाथ धर दीजिए ॥

Hanuman Chalisa -
Ram Bhajan -
×
Bhakti Bharat APP