खाटू श्याम फाल्गुन मेला 2021 (Khatu Shyam Falgun Mela 2021)

खाटू श्याम फाल्गुन मेला 2021

फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष में करीब 10 दिन तक चलने वाला श्री खाटूश्यामजी फाल्गुन मेला राजस्थान के सबसे बड़े मेलों में एक है। हर वर्ष मेले में देश-विदेशों से लाखों श्रद्धालु श्री श्याम के दर्शन करने आते हैं। इस अवसर पर संपूर्ण खाटू नगरी बाबा श्याम के रंग में रंगी हुई होती है।

खाटू श्याम जी फाल्गुन मेला 2021 तिथियाँ:
शुक्रवार, 19 मार्च 2021 - षष्ठी
शनिवार, 20 मार्च 2021 - सप्तमी
रविवार, 21 मार्च 2021 - सप्तमी
सोमवार, 22 मार्च 2021 - अष्टमी
मंगलवार, 23 मार्च 2021 - नवमी
बुधवार, 24 मार्च 2021 - दशमी
गुरूवार, 25 मार्च 2021 - एकादशी
शुक्रवार, 26 मार्च 2021 - द्वादशी

कोरोना महामारी के चलते मेले के दौरान मंदिर के दिशा निर्देश:
● पार्किंग निशुल्क रहेगी।
● मेले मे 110 बसों का संचालन रहेगा।
● बेरीकेटिग मजबुत करने व CCTV की संख्या मे बढोतरी होगी।
● इस बार चलित शौचालयों की भी व्यव्स्था पर जोर दिया जायेगा।
● सुरक्षा को लेकर मेले मे 2500 जवान व 1500 से ज्यादा स्काऊट गाइड ओर उनके साथ साथ करीब 5000 स्वयंसेवक भी मेले मे सेवा देगे।
● रिंग्स रोड पर वाहनों का प्रवेश बन्द कर दिया जायेगा।
● मेले के दौरान इस बार भी डीजे पर पूर्णत पाबंदी रहेगी भक्तो के साथ आने वाले रथ पर भी इस बार पांबदी रखी गयी है।

मेले के दौरान असुविधा से बचने के लिए, मंदिर की वेबसाइट पर आवश्यक सूचनाएँ अवश्य देखें: https://www.khatooshyamji.com/

Khatu Shyam Falgun Mela 2021 in English

Shri Khatu Shyam Ji Falgun Mela is one of the biggest Mela (Fair) in Rajasthan, which lasts for about 10 days in the Shukla Paksha of Phalgun month.
यह भी जानें

Blogs Falgun BlogsFalgun Mela BlogsFalgun Mela 2021 BlogsShri Shyam BlogsKhatushyam BlogsKhatu Nagari BlogsFalgun Mela Dates BlogsFalgun Mela Schedule Blogs

अगर आपको यह ब्लॉग पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस ब्लॉग को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

शकुनि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ..

शकुनि के पिता, माता, पत्नी, बेटे का क्या नाम था? युद्ध में सहदेव ने वीरतापूर्वक युद्ध करते हुए शकुनि और उलूक को घायल कर दिया और देखते ही देखते उलूक का वध दिया।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी विशेषांक 2021

आइए जानें! श्री कृष्ण जन्माष्टमी से जुड़ी कुछ जानकारियाँ, प्रसिद्ध भजन एवं सम्वन्धित अन्य प्रेरक तथ्य..

सावन शिवरात्रि विशेषांक 2021

जानें! सावन की शिवरात्रि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ एवं सम्वन्धित प्रेरक तथ्य..

क्यों मनाई जाती है गुरु पूर्णिमा?

24 जुलाई, 2021 को गुरु पूर्णिमा मनाया जाएगा। गुरु पूर्णिमा का पबित्र पर्व आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि को हिन्दू पंचांग के अनुसार मनाया जाता है। भारत में इस दिन को बड़ी श्रद्धा के साथ गुरु की पूजा की जाती है।

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2021

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Wednesday, 4 August 2021 कामिका एकादशी व्रत कथा - Kamika Ekadasi Vrat Katha

विविध: आर्य समाज के नियम

ईश्वर सच्चिदानंदस्वरूप, निराकार, सर्वशक्तिमान, न्यायकारी, दयालु, अजन्मा, अनंत, निर्विकार, अनादि, अनुपम, सर्वाधार, सर्वेश्वर, सर्वव्यापक, सर्वांतर्यामी, अजर, अमर, अभय, नित्य, पवित्र और सृष्टिकर्ता है, उसी की उपासना करने योग्य है।

बिश्नोई पन्थ के उनतीस नियम!

बिश्नोई पन्थ के उनतीस नियम निम्नलिखित हैं: तीस दिन सूतक, पांच ऋतुवन्ती न्यारो। सेरो करो स्नान, शील सन्तोष शुचि प्यारो॥...

मंदिर

🔝