Janmashtami SpecialsDownload Bhakti Bharat APP

घुमा दें मोरछड़ी: भजन (Ghuma De Morchadi)


घुमा दें मोरछड़ी: भजन

दोहा:
बाबा थारी मोरछड़ी,
घूमे करे कमाल ।
धूम मची खाटू नगर में,
भक्तां करे धमाल ॥

हीरा मोत्या जड़ी जड़ी,
संकट काटे खड़ी खड़ी,
मेरे सर पे बाबा श्याम,
घुमा दें मोरछड़ी,
मेरे सर पे बाबा श्याम,
घुमा दें मोरछड़ी ॥

शरण पड्या म्हे थारी अरज करा,
खोलो पट बाबा तेरा दरश करा,
तेरो बहुत बड़ो रे नाम,
घुमा दें मोरछड़ी,
तेरो बहुत बड़ो रे नाम,
घुमा दें मोरछड़ी ॥

सांचो रे दयालु तू तो मेहर करे,
भोला भक्तां की बाबा झोलियाँ भरे,
पुजवा रयो खाटू धाम,
घुमा दें मोरछड़ी,
पुजवा रयो खाटू धाम,
घुमा दें मोरछड़ी ॥

बैठ्यो बैठ्यो मिठो मिठो मुस्कावे,
रोता जो भी आवे हँसता जावे,
लहरी सुमिरा सुबहो शाम,
घुमा दें मोरछड़ी,
लहरी सुमिरा सुबहो शाम,
घुमा दें मोरछड़ी ॥

हीरा मोत्या जड़ी जड़ी,
संकट काटे खड़ी खड़ी,
मेरे सर पे बाबा श्याम,
घुमा दे मोरछड़ी,
मेरे सर पे बाबा श्याम,
घुमा दें मोरछड़ी ॥

- उमा लहरी जी।

Ghuma De Morchadi in English

Hira Motya Jadi Jadi, Sankat Kate Khadi Khadi, Mere Sar Pe Baba Shyam, Ghuma De Morchadi
यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanShri Shayam BhajanFalgun Mela BhajanKhatu BhajanKhatu Shayam BhajanRajasthani BhajanUma Lahari Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

वो काला एक बांसुरी वाला - भजन

वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे। माखन चोर वो नंदकिशोर जो..

अब मैं सरण तिहारी जी - भजन

मीराबाई भजन - अब मैं सरण तिहारी जी, मोहि राखौ कृपा निधान ॥ अजामील अपराधी तारे, तारे नीच सदान..

जन्माष्टमी भजन - बड़ा नटखट है रे, कृष्ण कन्हैया

बड़ा नटखट है रे कृष्ण कन्हैया, का करे यशोदा मैय्या॥ बड़ा नटखट है रे...

उनकी रेहमत का झूमर सजा है - भजन

उनकी रेहमत का झूमर सजा है । मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया - भजन

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया, कोई हमदर्द तुमसा नहीं है, दुनिया वाले नमक है छिड़कते..

मेरो कान्हा गुलाब को फूल - भजन

मेरो कान्हा गुलाब को फूल, किशोरी मेरी कुसुम कली ॥ कान्हा मेरो नन्द जू को छौना..

श्री राधिका स्तव - राधे जय जय माधव दयिते

राधे जय जय माधव-दयिते, गोकुल-तरुणी-मंडल-महिते, दामोदर-रति-वर्धन-वेषे..

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App