Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel
Hanuman Chalisa - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel - Hanuman Chalisa - Durga Chalisa -

नवरात्रि व्रत के भोजन और लाभ (Navratri Vrat Foods and Benefits)

नवरात्रि व्रत के भोजन और लाभ
नवरात्रि का पवित्र त्योहार मां दुर्गा को समर्पित है। यह हिन्दू धर्म का एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार है। चैत्र नवरात्रि 9th अप्रैल से शुरू हो रही है और 17th अप्रैल 2024 तक चलेगी। यदि आप नवरात्रि के पूरे 9 दिनों तक उपवास करने की सोच रहे हैं, तो यहां कुछ स्नैक्स, फल और खाद्य पदार्थ हैं जिनका सेवन आप नवरात्रि के दौरान कर सकते हैं। ये खाद्य पदार्थ आपके शरीर को उसकी आवश्यकता के अनुसार सही मात्रा में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन प्रदान करते हैं।
व्रत के भोजन की सूची:
दूध
नवरात्रि व्रत के दौरान स्वस्थ और ऊर्जावान बने रहने के लिए जरूरी है कि आप तरल पदार्थ का सेवन करें। नवरात्रि के दौरान दूध या दूध से बनी चीजों का सेवन किया जाता है। दूध शरीर को प्रचुर मात्रा में प्रोटीन प्रदान करता है, जो आपको नवरात्रि के नौ दिनों तक भोजन के बिना भी कमजोरी महसूस नहीं होने देता है।

साबूदाना
नवरात्रि के दौरान साबूदाना का सेवन बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें अच्छी मात्रा में स्टार्च होता है, जो शरीर को भरपूर ऊर्जा देता है। व्रत के दौरान इसका सेवन करने से कमजोरी और ब्लड प्रेशर की समस्या नहीं होगी।

कुट्टू आटा
कुट्टू के आटे से बना भोजन उच्च प्रोटीन और फाइबर के साथ एक ग्लूटेन-मुक्त पावरहाउस है, जबकि सिंघाड़ा आटा कैलोरी में कम, पोटेशियम और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है।

सूखे मेवे
व्रत के दौरान भक्तों को सूखे मेवे खाने की सलाह दी जाती है। काजू, बादाम और किशमिश का सेवन करने से पेट काफी देर तक भरा रहता है। ये आपको नवरात्रि व्रत के दौरान ऊर्जावान बनाए रखते हैं। साथ ही इनके सेवन से पोषक तत्व भी मिलेंगे और ऊर्जा भी बनी रहेगी।

समक चावल
सामक चावल से बने व्यंजन बहुत हल्के और पौष्टिक होते हैं. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, समक चावल अन्य अनाजों की तुलना में उच्च मात्रा में फाइबर प्रदान करता है, जो स्वस्थ पाचन में मदद करता है और नवरात्रि चैत्र व्रत के दौरान पेट को लंबे समय तक भरा रखता है।

व्रत खाखरा
व्रत खाखरा व्रत के दौरान किसी भी दिन या खासकर नवरात्रि के दौरान खाया जा सकता है। इसमें मोरइयो/भागर/सिंघाड़े के आटे, साबूदाना से बने ये खाखरे का इस्तेमाल किया गया है।

साबूदाना मिश्रण चिवड़ा
साबूदाना एक ऐसी सामग्री है, जो चैत्र नवरात्रि के दौरान खूब खाया जाता है। चिवड़ा से खिचड़ी, नमकीन और कई अन्य व्यंजन बनाकर खाए जाते हैं।

उपवास के दौरान हाइड्रेटेड रहने के लिए पानी पिएं
गर्मी का मौसम है और खाली पेट व्रत करने से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। इसलिए शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध कराना जरूरी है। व्रत के दौरान शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए दिन भर में कम से कम 8 गिलास पानी पिएं।

नवरात्रि व्रत के दौरान कमजोरी से बचने के लिए आप ऊपर बताए गए इन खाद्य पदार्थों और किसी भी फल का सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से आपको कमजोरी महसूस नहीं होगी और आप पूरा दिन ऊर्जावान बने रहेंगे।

Navratri Vrat Foods and Benefits in English

Food items that you can consume during Navratri. It provides right amount of proteins, carbohydrates and vitamins as per its requirement.
यह भी जानें

Blogs Chaitra Navratri 2024 Vrat Foods BlogsNavratri BlogsChaitra Navratri BlogsMaa Durga BlogsDevi Maa BlogsNavratri 2024 BlogsKanya Puja 2024 BlogsKanjak Puja Blogs

अगर आपको यह ब्लॉग पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

Whatsapp Channelभक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस ब्लॉग को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

ISKCON

ISKCON संप्रदाय के भक्त भगवान श्री कृष्ण को अपना आराध्य मानते हैं। इनके द्वारा गाये जाने वाले भजन, मंत्र एवं गीतों का कुछ संग्रह यहाँ सूचीबद्ध किया गया है, सभी सनातनी परम्परा के भक्त इसका आनंद लें।

हनुमान चालीसा, लाभ, पढ़ने का सही समय, क्यों पढ़ें?

क्या आप प्रभु हनुमान की शक्ति में विश्वास करते हैं? Bhaktibharat के साथ अपने विचार साझा करें।...

सावन शिवरात्रि 2024

आइए जानें! सावन शिवरात्रि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ एवं सम्वन्धित कुछ प्रेरक तथ्य.. | सावन शिवरात्रि: Friday, 2 August 2024

कृष्ण दास

कृष्णा दास एक भक्ति गायक हैं जो भारतीय मंत्रों को कीर्तन तरीके से प्रस्तुत करते हैं।

नेत्र उत्सव

नेत्रोत्सव रथ यात्रा से एक दिन पहले आयोजित किया जाता है।

अधर पणा

अधर पणा अनुष्ठान आषाढ़ महीने त्रयोदशी तिथि पर पुरी जगन्नाथ मंदिर में आयोजित किया जाता है।

स्नान यात्रा

स्नान यात्रा जो कि देवस्नान पूर्णिमा या स्नान पूर्णिमा नाम से भी जाना जाता है।

Hanuman Chalisa -
Ram Bhajan -
×
Bhakti Bharat APP