Hanuman ChalisaSawan 2022

दृष्टि हम पे दया की माँ डालो: भजन (Drashti Hum Par Daya Ki Maa Dalo)


दृष्टि हम पे दया की माँ डालो: भजन

दृष्टि हम पे दया की माँ डालो,
बडी संकट की आई घड़ी है ।
द्वार पर तेरे हम भी खड़े है,
आँखो में आँसुओ कि झड़ी है ॥

निर्बल का सहारा यही है,
रास्ता दुसरा ना कही है ।
तेरा दर्श अगर तू दिखा दे,
टूट जाये गमो की लड़ी है ॥

सारे भक्तो को तुमने है तारा,
वासता तुमसे भी है हमारा ।
तार दे माँ तेरे बालकों को,
हम पर विपदा ही ऐसी पड़ी है ॥

फरियादों की झोली अड़ी है,
फते करने को माँ तू खड़ीं है ।
ये शिवाजी को आशिष दे कर,
धन्य करदे तू सबसे बड़ी है ॥

दृष्टि हम पे दया की माँ डालो,
बडी संकट की आई घड़ी है ।
द्वार पर तेरे हम भी खड़े है,
आँखो में आँसुओ कि झड़ी है ॥
Singer: Shivaji Patil

Drashti Hum Par Daya Ki Maa Dalo in English

Drashti Hum Pe Daya Ki Maa Dalo, Badi Sankat Ki Aai Ghadi Hai । Dwar Par Tere Hum Bhi Khade Hai,
यह भी जानें

Bhajan Maa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Sherawali BhajanDurga Puja BhajanMaa Durga BhajanLakha BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं - भजन

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम । कौन कहता हे भगवान आते नहीं..

वाक् देवी हे कलामयी हे सुबुद्धि सुकामिनी - भजन

वाक् देवी हे कलामयी हे सुबुद्धि सुकामिनी ज्ञान रूपे सुधि अनूपे हे सरस्वती नामिनी !...

कृष्ण भजन

जन्माष्टमी, राधाष्टमी, होली, भागवत कथा, गीता पाठ, कीर्तन, भजन संध्या मे प्रसिद्ध श्री कृष्ण भजन..

हे गोविन्द हे गोपाल अब तो जीवन हारे - भजन

हे गोविन्द हे गोपाल अब तो जीवन हारे । अब तो जीवन हारे प्रभु शरण है तिहारे..

खुल गया बैंक राधा, रानी के नाम का: भजन

खुल गया बैंक राधा, रानी के नाम का, बैठा बनके मैनेजर, कान्हा नंदगांव का, बैठा बनके मैनेजर, कान्हा नंदगांव का ॥

चले है भोला, सज धज के: भजन

भोला तन पे भस्म लगाये, मन में गौरा को बसाये, चले है भोला, सज धज के, संखिया मंगल गाती हैं, भूत प्रेत बाराती हैं ॥

भोला नही माने रे नहीं माने - भजन

भोला नही माने रे नहीं माने, मचल गए नचबे को, भोला नहीं माने रे नहीं माने, मचल गए नचबे को, डम डम डमरू बाजे प्यारी, नाच रहे भोले भंडारी, कैसे लहर लहर लगे लहराने, मचल गए नचबे को..

Hanuman ChalisaSavan 2022
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App