Download Bhakti Bharat APP

जीण भवानी की दुनिया दीवानी है - भजन (Jeen Bhawani Ki Duniya Diwani Hai)


जीण भवानी की दुनिया दीवानी है - भजन

जीण भवानी की दुनिया दीवानी है,
कलयुग में माँ की एक अजब कहानी है,
ऊँचे पर्वत बैठी जग महारानी है,
माँ से हम भक्तों की प्रीत पुराणी है,
जीण भवानी की दुनिया दीवानी है,
कलयुग में माँ की एक अजब कहानी है ।

घांघू गाँव में जन्मी मैया जीवन दाई है,
गंगो सिंह जी पिता हैं माता पारी के जाइ है,
हर्षनाथ की बहना वो कहलाई है,
पराशर कुल वंशों ने कृपा पाई है,
जीण भवानी की दुनिया दीवानी है,
कलयुग में माँ की एक अजब कहानी है ।

पर्वत ऊपर घोर तपस्या माँ ने ठानी है,
माँ की आँख के नीर की काजल शिखर कहानी है,
कलयुग अवतारी भवरों की रानी है,
कहते इनको गोरिया की सेठानी है,
जीण भवानी की दुनिया दीवानी है,
कलयुग में माँ की एक अजब कहानी है।

मुग़ल सेना ने मंदिर में जब करि चढ़ाई है,
लाखों भँवरे छोड़े माँ ने धुल चटाई है,
औरंगज़ेब ने माँ से हार ये मानी है,
इतिशा ने भी माँ की महिमा जानी है,
जीण भवानी की दुनिया दीवानी है,
कलयुग में माँ की एक अजब कहानी है ।

Jeen Bhawani Ki Duniya Diwani Hai in English

Jin Bhavaani Ki Duniya Divaani Hai, Kalayug Mein Maan Ki Ek Ajab Kahaani Hai, Unche Parvat Baithi Jag Mahaaraani Hai..
यह भी जानें

Bhajan Maa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Sherawali BhajanDurga Puja BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday BhajanAshtami BhajanGupt Navratri BhajanJeen Bhawani BhajanJeen Mata BhajanKuldevi Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

उठ जाग मुसाफिर भोर भई - भजन

उठ जाग मुसाफिर भोर भई, अब रैन कहाँ जो सोवत है।..

बीच भंवर में फसी मेरी नैया: भजन

बीच भंवर में फसी मेरी नैया, तुम्ही हो खिवैया माँ, तुम्ही हो खिवैया ॥

प्राणो से भी प्यारा, दादी धाम तुम्हारा: भजन

प्राणो से भी प्यारा, दादी धाम तुम्हारा, दर्शन कर हो जाता, ये जीवन सफल हमारा, तूने सबको तारा, सबका जीवन संवारा,
तेरे बिन कौन दादी, हम भक्तों का सहारा ॥

सज धज बैठ्या दादीजी, लुन राई वारा: भजन

सज धज बैठ्या दादीजी, लुन राई वारा, निजरा उतारा माँ की, निजरा उतारा, निजरा उतारा माँ की, निजरा उतारा ॥

जिस ओर नजर फेरूं दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है: भजन

जिस ओर नजर फेरूं दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है, सतियों में तू सिरमौर है माँ, साँचा ये द्वारा तेरा है, जिस ओर नजर फेरूँ दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है ॥

मैया तेरे चरणों की: भजन

मैया तेरे चरणों की, अम्बे तेरे चरणों की, गर धूल जो मिल जाए, सच कहती हूँ मैया, तक़दीर बदल जाए, मैया तेरे चरणो की ॥

साँसों की माला पे सिमरूं मैं, पी का नाम - भजन

साँसों की माला पे सिमरूं मैं, पी का नाम, अपने मन की मैं जानूँ, और पी के मन की राम, अपने मन की मैं जानूँ और पी के मन की राम ॥

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App