भजन: संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥ (Bhajan: Sankat Ke Sathi Ko Hanuman Kahate Hain)


श्री हनुमान जन्मोत्सव, मंगलवार व्रत, शनिवार पूजा, बूढ़े मंगलवार, सुंदरकांड, रामचरितमानस कथा और अखंड रामायण के पाठ में प्रमुखता से गाये जाने वाला भजन।

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥
पढ़ लो सारे वेद और पुराण कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥
॥ दुनिया के मालिक को भगवान...॥

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं

जब रिश्तेदार तुमसे मुखड़ा छुपाए, हनुमान तेरा साथ निभाए
हनुमान तेरा साथ निभाए, हनुमान तेरा साथ निभाए

जब दुनिया वाले दें ना सहारा, हनुमान पकड़े दामन तुम्हारा
हनुमान पकड़े दामन तुम्हारा, हनुमान पकड़े दामन तुम्हारा

पढ़ लो सारे
पढ़ लो सारे वेद और पुराण कहते हैं
पढ़ लो सारे वेद और पुराण कहते हैं

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
॥ दुनिया के मालिक को भगवान...॥

जो काम इसके वश में नहीं है,
एक काम हमको ऐसा बता दो
एक काम हमको ऐसा बता दो,
एक काम हमको ऐसा बता दो

हनुमान खुश हो जाएगा तुमसे,
बस इनको थोड़ा सिंदूर लगा दो
बस इनको थोड़ा सिंदूर लगा दो,
बस इनको थोड़ा सिंदूर लगा दो

दुनिया के
दुनिया के सारे इंसान कहते हैं
दुनिया के सारे इंसान कहते हैं

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
॥ दुनिया के मालिक को भगवान...॥

दिल से जो इनकी भक्ति करेगा, हनुमान उसका साथी बनेगा
हनुमान उसका साथी बनेगा, हनुमान उसका साथी बनेगा

‘बनवारी’ जो भी शरण में रहेगा, ये उसका बेड़ा पार करेगा
ये उसका बेड़ा पार करेगा, ये उसका बेड़ा पार करेगा

इनके बारे में
इनके बारे में श्रीराम कहते हैं
इनके बारे में श्रीराम कहते हैं

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
॥ दुनिया के मालिक को भगवान...॥

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं

Bhajan: Sankat Ke Sathi Ko Hanuman Kahate Hain in English

Duniya Ke Malik Ko Bhagvan Kahate Hain, Sankat Ke Sathi Ko Hanuman Kahate Hain
यह भी जानें

BhajanShri Hanuman BhajanBajrangbali BhajanHanuman Jayanti Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: बजरंगबली मेरी नाव चली

बजरंगबली मेरी नाव चली, करुना कर पार लगा देना। हे महावीरा हर लो पीरा..

भजन: हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन!

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन, सुन लो मेरी पुकार। पवनसुत विनती बारम्बार॥ अष्ट सिद्धि, नव निद्दी के दाता...

भजन: जय राधा माधव, जय कुन्ज बिहारी!

जय राधा माधव, जय कुन्ज बिहारी, जय गोपी जन बल्लभ, जय गिरधर हरी...

मैं तो बांके की बांकी बन गई

मैं तो बांके की बांकी बन गई, और बांका बन गया मेरा, इस बांके का सब कुछ बांका...

भजन: कृष्ण जिनका नाम है

कृष्ण जिनका नाम है, गोकुल जिनका धाम है, ऐसे श्री भगवान को...

भजन: भगतो को दर्शन दे गयी रे

भगतो को दर्शन दे गयी रे, एक छोटी सी कन्या, छोटी सी कन्या, एक छोटी सी कन्या॥

भजन: शीश गंग अर्धंग पार्वती

शीश गंग अर्धंग पार्वती सदा विराजत कैलासी। नंदी भृंगी नृत्य करत हैं, धरत ध्यान सुर सुखरासी॥

🔝