close this ads

आदियोगी - The Source of Yoga


गीत - प्रसून जोशी, ध्वनि एवं रचना - कैलाश खेर

दूर उस आकाश की गहराइयों में,
एक नदी से बह रहे हैं आदियोगी,
शून्य सन्नाटे टपकते जा रहे हैं,
मौन से सब कह रहे हैं आदियोगी,
योग के स्पर्श से अब योगमय करना है तन-मन,
साँस सास्वत सनन सनननन,
प्राण गुंजन धनन धन-धन,
उतरे मुझमे आदियोगी,
योग धारा चलत छण छण,
साँस सास्वत सनन सनननन,
प्राण गुंजन धनन धन-धन,
उतरे मुझमे आदियोगी,
उतरे मुझमे आदियोगी..
.
.
.

पीस दो अस्तित्व मेरा,
और कर दो चूरा चूरा,
पूर्ण होने दो मुझे और,
होने दो अब पूरा पूरा,
भस्म वाली रस्म कर दो आदियोगी,
योग उत्सव रंग भर दो आदियोगी,
बज उठे यह मन सितरी,
झणन झणन झणन झणन झन झन,

साँस सास्वत सनन सनननन,
प्राण गुंजन धनन धन-धन..(2)

साँस सास्वत सनन सनननन,
प्राण गुंजन धनन धन-धन...

साँस सास्वत..
प्राण गुंजन..

उतरे मुझमे आदियोगी,
योग धारा छलक छन छन,
साँस सास्वत सनन सनननन,
प्राण गुंजन धनन धन-धन,
उतरे मुझमे आदियोगी..
उतरे मुझमे आदियोगी..

Read Also:
» कब, कैसे, कहाँ मनाएँ शिवरात्रि? | द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग!
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध शिव मंदिर - Famous Shiv Mandir of Delhi NCR
» दिल्ली और आस-पास के मंदिरों मे शिवरात्रि की धूम-धाम - Temple celebrates Shivratri in Delhi NCR
» आरती: श्री शिव, शंकर, भोलेनाथ | चालीसा: श्री शिव जी | भजन: शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ

Hindi Version in English

Lyrics - Prasoon Joshi, Sound and Composition - Kailash Kher

Door us aakash ki gehraiyon mein,
Ek nadi se beh rahe hain Adiyogi,
Shunya sannate tapakte ja rahe hain,
Maun se sab keh rahe hain Adiyogi,
Yog ke sparsh se ab yogmaya karna hai tan man,
Saans saaswat sanan sananan,
Praan gunjan dhanan dhananan,
Utare mujhme Adiyogi,
Yog dhara chalat chan chan,
Saans saaswat sanan sananan,
Praan gunjan dhanan dhananan,
Utare mujhme Adiyogi,
Utare mujhme Adiyogi..
.
.
.

Pees do astitva mera,
Aur kar do choora choora,
Purn hone do mujhe aur,
Hone do ab poora poora,
Bhasm wali rasm kar do Adiyogi,
Yog utsav rang bhar do Adiyogi,
Baj uthe yeh mann sitari,
Jhanan jhanan jhanan jhanan,

Saans saaswat sanan sananan,
Praan gunjan dhanan dhananan...(2)

Saans saaswat sanan sananan,
Praan gunjan dhanan dhananan...

Saans saaswat...
Praan gunjan...

Utare mujhme Adiyogi,
Yog dhara chalat chan chan,
Saans saaswat sanan sananan,
Praan gunjan dhanan dhananan,
Utare mujhme Adiyogi..
Utare mujhme Adiyogi..

Shiv Bhajan


If you love this article please like, share or comment!

भजन: वो काला एक बांसुरी वाला..

वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे। माखन चोर वो नंदकिशोर जो...

भजन: श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम!

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम, लोग करें मीरा को यूँ ही बदनाम साँवरे की बंसी को बजने से काम...

भजन: भोले के कांवड़िया मस्त बड़े मत वाले हैं

चली कांवड़ियों की टोली, सब भोले के हमजोली, गौमुख से गंगाजल वो लाने वाले हैं।

भजन: बजरंगबली मेरी नाव चली, करुना कर पार लगा देना।

बजरंगबली मेरी नाव चली, करुना कर पार लगा देना। हे महावीरा हर लो पीरा...

भजन: श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी...

श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी, तेरी लीला सबसे न्यारी न्यारी हरी हरी...

भजन: मेरो लाला झूले पालना, नित होले झोटा दीजो !

मेरो लाला झूले पालना, नित होले झोटा दीजो, नित होले झोटा दीजो, नित होले झोटा दीजो

भजन: शंकर जी का डमरू बाजे

शंकर जी का डमरू बाजे, पार्वती का नंदन नाचे॥ बर्फीले कैलाशिखर पर जय गणेश की धूम

भजन: गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में।

गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में। मोदक भोग लगाओ, श्री रामजी की धुन में॥

भजन: ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम। जिस दिन जुबा पे मेरी, आए ना शिव का नाम॥

बधाई भजन: बजे कुण्डलपर में बधाई, के नगरी में वीर जन्मे

नवजात शिशु के जन्म बधाई की खुशी मे यह गीत या भजन भारत के जैन समाज मे बहुत लोकप्रिय है!
बजे कुण्डलपर में बधाई, के नगरी में वीर जन्मे, महावीर जी
जागे भाग हैं त्रिशला माँ के, के त्रिभवन के नाथ जन्मे...

Latest Mandir

^
top