जगत में कोई ना परमानेंट: भजन (Jagat Me Koi Na Permanent)


जगत में कोई ना परमानेंट: भजन

जगत में कोई ना परमानेंट,
जगत में कोई ना परमानेंट,
तेल चमेली चन्दन साबुन,
तेल चमेली चन्दन साबुन,
चाहे लगालो सेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट ॥

आवागमन लगा दुनिया में,
जगत है रेस्टोरेंट,
रे प्यारे जगत है रेस्टोरेंट,
अंत समय में उड़ जाएंगे,
अंत समय में उड़ जाएंगे,
तेरे तम्बू टेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट ॥

राष्ट्रपति हो कर्नल जनरल,
या हो लेफ्टिनेंट,
रे प्यारे या हो लेफ्टिनेंट,
काल सभी को खा जाएगा,
काल सभी को खा जाएगा,
लेडीज हो या जेंट्स,
जगत में कोईं ना परमानेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट ॥

हरिद्वार चाहे, काशी मथुरा*,
घूमो दिल्ली केंट,
रे प्यारे घूमो दिल्ली केंट,
मन में नाम प्रभु का राखो,
मन में नाम प्रभु का राखो,
धोती पहनो या पेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट ॥

साधू संत की संगत करलो ,
ये सच्ची गोरमेंट,
रे प्यारे ये सच्ची गोरमेंट,
'लाल सिंह' कहे इस दफ्तर से,
'लाल सिंह' कहे इस दफ्तर से’,
मत होना एब्सेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट ॥

जगत में कोई ना परमानेंट,
जगत में कोई ना परमानेंट,
तेल चमेली चन्दन साबुन,
तेल चमेली चन्दन साबुन,
चाहे लगालो सेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट,
जगत में कोईं ना परमानेंट ॥

* कहीं कहीं (हरिद्वार चाहे, काशी मथुरा) की जगह (कलकत्ता मुंबई चेन्नई या) प्रयोग किया गया है।

Jagat Me Koi Na Permanent in English

Jagat Mein Koi Na Permanent, Tel Chameli Chandan Sabun
यह भी जानें

BhajanGuru BhajanGurudev BhajanGuru Purnima BhajanVyasa Purnima BhajanGuru Gyan BhajanInspirational BhajanMorning BhajanDainik BhajanDaily BhajanPujya Rajan Bhajan

अन्य प्रसिद्ध जगत में कोई ना परमानेंट: भजन वीडियो

जगत में कोई ना परमानेंट: Lakhbir Singh Lakkha

Rajasthani Singer Prakash Gandhi


अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

देख लिया संसार हमने देख लिया

देख लिया संसार हमने देख लिया, सब मतलब के यार हमने देख लिया ।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी। ज्योत जगा के, सर को झुका के...

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल: भजन

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल, तुम बिन रह्यो न जाय हो ॥ बृजराज लडेतोलाडिले ॥

गोबिंद चले चरावन गैया: भजन

गोबिंद चले चरावन गैया । दिनो है रिषि आजु भलौ दिन, कह्यौ है जसोदा मैया ॥

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी: भजन

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे । मन मंदिर की जोत जगा दो..

तुम करुणा के सागर हो प्रभु: भजन

तुम करुणा के सागर हो प्रभु, मेरी गागर भर दो थके पाँव है...

हरी सिर धरे मुकुट खेले होरी: होली भजन

हरी सिर धरे मुकुट खेले होरी, कहाँ से आयो कुंवर कन्हैया, कहाँ से आई राधा गोरी..

🔝