हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु करुणा कीजिये! (He Mere Gurudev Karuna Sindhu Karuna Keejiye)


गुरुर्ब्रह्मा ग्रुरुर्विष्णुः, गुरुर्देवो महेश्वरः ।
गुरुः साक्षात् परं ब्रह्म, तस्मै श्री गुरवे नमः ॥

सत् गुरुदेव श्रद्धा सुमन अर्पण:
मेरे गुरुदेव चरणों पर , सुमन श्रद्धा के अर्पित हैं ।
तेरी ही देन है जो है , तेरे चरणों पे अर्पित है ॥

न प्रीति है प्रतीति है , नहीं पूजन की शक्ति है ।
मेरा यह मन मेरा यह तन , मेरा जीवन समर्पित है ॥

तेरी इच्छाएँ हों मेरी मेरे सब कर्म हों तेरे ।
बना ले यंत्र अब मुझको मेरा कण कण समर्पित है ॥

तुम्ही हो भाव में मेरे विचारों में पुकारों में ।
तेरे चरणों पे हे गुरुवर मेरा सर्वस्व अर्पित है ॥

गुरु याचना:
हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु करुणा कीजिये ।
हूँ अधम आधीन अशरण, अब शरण में लीजिये ॥

खा रहा गोते हूँ मैं भवसिन्धु के मझधार में ।
आसरा है दूसरा कोई न अब संसार में ॥
मुझमें है जप तप न साधन और नहीं कुछ ज्ञान है ।
निर्लज्ता है एक बाकी और बस अभिमान है ॥
पाप बोझे से लदी नैया भँवर में जा रही ।
नाथ दौड़ो, अब बचाओ जल्द डूबी जा रही ॥
॥ हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु ...॥

आप भी यदि छोड़ देंगे फिर कहाँ जाऊँगा मैं ।
जन्म-दुःख से नाव कैसे पार कर पाऊँगा मैं ॥
सब जगह "मंजुल" भटक कर, ली शरण प्रभु आपकी ।
पार करना या न करना, दोनों मर्जी आपकी ॥
॥ हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु ...॥

आप ही माता पिता प्रभु आप ही भगवान हो ।
सर्व सुख दाता सखा भ्राता हो सद्गुरु प्राण हो ॥
प्रभु आपके उपकार का हम ऋण चुका सकते नहीं ।
बिनु कृपा के शांति सुख का सार पा सकते नहीं ॥
॥ हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु ...॥

दीजिए वह भक्ति हमको सद्गुणी संसार में ।
मन हो मंजिल धर्म में अरू तन लगे उपकार में ॥

हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु करुणा कीजिये।
हूँ अधम आधीन अशरण अब शरण में लीजिये ॥

He Mere Gurudev Karuna Sindhu Karuna Keejiye in English

Hai Mere Gurudev Karuna Sindhu Karuna Kijiye । Hun Adham Adhin Ashran Ab Sharan Mein Lijiye
यह भी जानें

BhajanGuru BhajanGurudev BhajanGuru Purnima BhajanVyasa Purnima Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए..

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए। जुबा पे राधा राधा, राधा नाम हो जाए॥ जब गिरते हुए मैंने तेरे नाम लिया है..

भजन: करदो करदो बेडा पार राधे अलबेली सरकार

करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार । तेरी कृपा से राधा रानी, बनते हैं सब काम..

भजन: हरि नाम के रस को पी पीकर

हरि नाम के रस को पी पीकर, आनंद में जीना सीख लिया, हरी नाम के रस को पी पीकर, आनंद में जीना सीख लिया...

भजन: कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी, कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी, रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी..

भजन: चित्रकूट के घाट-घाट पर, शबरी देखे बाट

चित्रकूट के घाट घाट पर, शबरी देखे बाट, राम मेरे आ जाओ, राम मेरे आ जाओ...

भजन: मानो तो मैं गंगा माँ हूँ..

मानो तो मैं गंगा माँ हूँ, ना मानो तो बहता पानी, जो स्वर्ग ने दी धरती को, में हूँ प्यार की वही निशानी...

भजन: श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी...

श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी, तेरी लीला सबसे न्यारी न्यारी हरी हरी...

🔝