close this ads

श्री जगन्नाथ मंदिर


updated: Aug 06, 2018 06:24 AM About | Timing | Highlights | History | Video | How to Reach | Comments


श्री जगन्नाथ मंदिर (Shri Jagannath Mandir) - CS/OCF-7, Sector-24 Rohini, New Delhi - 110085

Rohini श्री जगन्नाथ मंदिर (Shri Jagannath Mandir) is being constructed with the insperation of Puri Jagannath Dham. The expectancy time of the full construction will be in 2018. On the day of Rath Yatra, thousands of devotees are involved in the celebration.

The sanctum of the main temple is built on the top floor, along with the four supporting temples, Lakshmi Ji, Vimala Mata, Shri Hanuman and Shiv Dham have also been made. Total 1100 idols are being installed outside and inside of the temple. The construction of the temple is being done keeping in mind both safety and comfort measurements. The worship in the temple is being done by Brahmins coming from Orissa with 6 aartis.

On every purnima, Kheer as Bhog Prasad is distributed during the Satyanarayan Katha. Temple committee organized monthly Rudrabhishek. Time to time, Sundar Kand Path, health check camps and yoga camps are held in the temple premises. Sunderkand Path is organized on the New Year first Sunday. There is a booking system for any type of pooja. Like Jagannath Dham Orissa, there is also a system for the preparation of Khaja Bhog on the Rohini temple.Know About Temple in Hindi

समय सारिणी

दर्शन समय
5:00 AM - 1:00 PM, 4:30 PM - 9:30 PM
5:10 AM: Mangala Arati
8:30 AM: Shringar Arati
12:30 PM: Bhog Arati
7:30 PM: Sandhaya Arati
8:30 PM: Bhog Arati
9:30 PM: Sayan Arati

हिन्दी मे जानें

जगन्नाथ पूरी की तर्ज पर ही रोहिणी श्री जगन्नाथ मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। मंदिर के प्राण प्रतिस्ता का संभावित समय सन् 2018 में माना जा रहा है। रथ यात्रा के दिन यहाँ हजारों की संख्या में भक्त सम्मलित होते हैं।

मुख्य मंदिर का गर्भग्रह सबसे ऊपर वाले फ्लोर पर बनाया गया है, उसके साथ-साथ चार सहायक मंदिर क्रमशः लक्ष्मीजी, विमला माँ, श्री हनुमान तथा शिव धाम भी बनाए गये हैं। मंदिर के बाहर तथा भीतर की ओर कुल 1100 मूर्तियों की स्थापित की जा रही है। मंदिर का निर्माण सुरक्षा और सुविधा दोनों को ध्यान में रख कर किया जा रहा है। मंदिर की पूजा-अर्चना का कार्य उड़ीसा से आए ब्राह्मणों के द्वारा 6 आरतियों के साथ किया जा रहा है।

प्रत्येक पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण कथा तथा उसके उपरान्त भोग प्रसाद स्वरूप खीर का वितरण किया जाता है। मंदिर समिति मासिक रुद्राभिषेक का आयोजन भी करती है। मंदिर में समय-समय पर सुंदर कांड पाठ, हेल्थ चैकप कैंप तथा योग कैंप लगाए जाते हैं। नई साल के प्रथम रविवार को सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया जाता है। मंदिर में किसी भी प्रकार की पूजा के लिए बुकिंग की व्यवस्था है। जगन्नाथ धाम उड़ीसा की तरह ही रोहिणी मंदिर में सूखे/खाजा भोग को बनवाने की भी व्यवस्था है।

जानकारियां

धाम
Shivling with GanShri GaneshShri HanumanSri Sri Jaganntha Baladeva Subhadra
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Water Coolar, Power Backup, CCTV Security, Office, Shoe Store, Washrooms
धर्मार्थ सेवाएं
Anand Bazar
संस्थापक
Shri Jagannath Rohini Sewa Sangh
स्थापना
26 Jun 2006
देख-रेख संस्था
Shri Jagannath Rohini Sewa Sangh
समर्पित
Shri Jagannath
क्षेत्रफल
500 Gaj
फोटोग्राफी
Yes (It's not ethical to capture photograph inside the temple when someone engaged in worship! Please also follow temple`s Rules and Tips.)

क्रमवद्ध

26 Jun 2006

Murti sthapna and temple initiation.

27 November 2011

Bhumipujan of current location, provided by DDA.

25 May 2012

Jagannath Ji sthapana on DDA land.

5 April 2015

Kalash sthapna

26 November 2017

Singhasan puja of new temple.

वीडियो प्रदर्शनी

कैसे पहुचें

कैसे पहुचें
मेट्रो: Rithala | क्या संभव है? दिल्ली मेट्रो से मंदिर दर्शन...
सड़क/मार्ग: Bahadur Shah Marg >> Bhagawan Mahavir Marg
पता
CS/OCF-7, Sector-24 Rohini, New Delhi - 110085
संपर्क करें
Phone: +91-11-65666699, +91-9212166262 E-mail: info@shrijagannathrohini.com
वेबसाइट
http://www.shrijagannathrohini.com/
facebook
iskconrohinidelhi
निर्देशांक
28.725351°N, 77.095564°E
श्री जगन्नाथ मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/jagannath-mandir-rohini

अगला मंदिर दर्शन

अपने विचार यहाँ लिखें

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: श्री रामचन्द्र जी।

आरती कीजै रामचन्द्र जी की। हरि-हरि दुष्टदलन सीतापति जी की॥

रघुवर श्री रामचन्द्र जी।

आरती कीजै श्री रघुवर जी की, सत चित आनन्द शिव सुन्दर की॥

आरती: जय जय तुलसी माता

जय जय तुलसी माता, मैया जय तुलसी माता। सब जग की सुख दाता, सबकी वर माता॥

^
top