मुकुट सिर मोर का, मेरे चित चोर का। (Mukut Sir Mor Ka Mere Chit Chor Ka)


मुकुट सिर मोर का, मेरे चित चोर का।
दो नैना सरकार के, कटीले हैं कटार से॥

कमल लज्जाये तेरे नैनो को देख के।
भूली घटाएँ तेरी कजरे की रेख पे।
यह मुखड़ा निहार के, सो चाँद गए हार के,
दो नैना सरकार के, कटीले हैं कटार से॥
॥ मुकुट सिर मोर का...॥

कुर्बान जाऊं तेरी बांकी अदाओं पे।
पास मेरे आजा तोहे भर मैं भर लूँ मैं बाहों में।
जमाने को विसार के, दिलो जान तोपे वार के,
दो नैना सरकार के, कटीले हैं कटार से॥
॥ मुकुट सिर मोर का...॥

रमण बिहारी नहीं तुलना तुम्हारी।
तुझ सा ना पहले कोई ना देखा अगाडी।
दीवानों ने विचार के, कहा यह पुकार के,
दो नैना सरकार के, कटीले हैं कटार से॥
॥ मुकुट सिर मोर का...॥

मुकुट सिर मोर का, मेरे चित चोर का।
दो नैना सरकार के, कटीले हैं कटार से॥


Read Also
» दिल्ली मे कहाँ मनाएँ श्री कृष्ण जन्माष्टमी। | भोग प्रसाद
» श्री कृष्ण जन्माष्टमी - Shri Krishna Janmashtami
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर। | जानें दिल्ली मे ISKCON मंदिर कहाँ-कहाँ हैं? | दिल्ली के प्रमुख श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर।
» ब्रजभूमि के प्रसिद्ध मंदिर! | भारत के चार धाम
» आरती: श्री बाल कृष्ण जी | भोग आरती: श्रीकृष्ण जी | बधाई भजन: लल्ला की सुन के मै आयी!

Mukut Sir Mor Ka Mere Chit Chor Ka in English

Mukut Sir Mor Ka, Mere Chit Chor Ka । Do Naina Sarkar Ke, Katile Hain Katar Se

BhajanShri Krishna BhajanJanmashtami BhajanPurnima Didi Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: राधिके ले चल परली पार!

किशोरी ले चल परली पार, राधिके ले चल परली पार, श्यामा चल परली पार...

भजन: जीवन है तेरे हवाले, मुरलिया वाले..

जीवन है तेरे हवाले, मुरलिया वाले, हम कठ पुतली तेरे हाथ की..

भजन: ऐसो चटक मटक सो ठाकुर..

ऐसो चटक मटक सो ठाकुर, तीनों लोकन हूँ में नाय, तीन ठौर ते टेढ़ो दिखे, नट किसी चलगत यह सीखे..

भजन: जगत के रंग क्या देखूं!

जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है। क्यों भटकूँ गैरों के दर पे तेरा दरबार काफी है...

भजन: ओ सांवरे हमको तेरा सहारा है

ओ सांवरे हमको तेरा सहारा है, तेरी रहमतो से चलता, तेरी रहमतो से चलता मेरा गुजारा है..

भजन: सांवरा जब मेरे साथ है

सांवरा जब मेरे साथ है, हमको डरने की क्या बात है । इसके रहते कोई कुछ कहे, बोलो किसकी यह औकात है..

भोग भजन: जीमो जीमो साँवरिया थे

उमा लहरी द्वारा श्री कृष्ण भजन - जीमो जीमो साँवरिया थे, आओ भोग लगाओ जी, बाँसुरिया की तान सुनाता..

🔝