तू प्यार का सागर है... (Tu Pyar Ka Sagar Hai)


तू प्यार का सागर है, तेरी एक बूँद के प्यासे हम।
लौटा जो दिया तूने, चले जायेंगे जहां से हम।
॥ तू प्यार का सागर है...॥

घायल मन का पागल पंछी उड़ने को बेकरार।
पंख हैं कोमल, आँख है धुंदली, जाना है सागर पार।
अब तू ही इसे समझा, राह भूले थे कहाँ से हम।
॥ तू प्यार का सागर है...॥

इधर झूम के गाए जिन्दगी, उधर है मौत खड़ी।
कोई क्या जाने कहाँ है सीमा, उलझन आन पड़ी।
कानों में ज़रा कह दे के, आएं कौन दिशा से हम।
॥ तू प्यार का सागर है...॥

तू प्यार का सागर है, तेरी एक बूँद के प्यासे हम।
लौटा जो दिया तूने, चले जायेंगे जहां से हम।

Tu Pyar Ka Sagar Hai in English

Tu Pyar Ka Sagar Hai, Teri Ek Bund Ke Pyase Ham। Lauta Jo Diya Tune...
यह भी जानें

BhajanArya Samaj BhajanVedik Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: यही आशा लेकर आती हूँ..

यही आशा लेकर आती हूँ हर बार तुम्हारे मंदिर में, कभी नेह की होगी मुझपर भी बौछार तुम्हारे मंदिर में...

भजन: श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी..

श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवा॥

भजन: भए प्रगट कृपाला दीनदयाला।

भए प्रगट कृपाला दीनदयाला, कौसल्या हितकारी । हरषित महतारी, मुनि मन हारी, अद्भुत रूप बिचारी ॥ लोचन अभिरामा, तनु घनस्यामा...

भजन: राम सिया राम, सिया राम जय जय राम!

मंगल भवन अमंगल हारी, द्रबहुसु दसरथ अजर बिहारी। राम सिया-राम सिया राम...

राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊँ गली गली।

राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊँ गली गली। कृष्ण नाम के हीरे मोती...

बांके बिहारी मुझको देना सहारा!

बांके बिहारी मुझे देना सहारा, कहीं छूट जाए ना दामन तुम्हारा॥ तेरे सिवा दिल में समाए ना कोई...

भजन: चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है।

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है। ऊँचे पर्वत पर रानी माँ ने दरबार लगाया है।

भजन: मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की।

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की। जय जय संतोषी माता जय जय माँ॥

भजन: मन लेके आया, माता रानी के भवन में।

मन लेके आया, माता रानी के भवन में, बड़ा सुख पाया, बड़ा सुख पाया...

भजन: दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ!

दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ, जय बोलो जय माता दी, जो भी दर पे आए, जय हो...

🔝