Download Bhakti Bharat APP
Hanuman Chalisa - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel - Om Jai Jagdish Hare Aarti - Ram Bhajan -

रस खीर बनाने की विधि (Ras Kheer Recipe)

बनाने की विधि:
सर्व प्रथम, चावलों को अच्छी तरह धो कर आधा घण्टे के लिए भिगोने रख देते हैं।
ताजा गन्ने के रस को मलमल के कपड़े (मसलन क्लॉथ ) की सहायता से एक भारी-तली वाले बर्तन (पतीले) में छान लेते हैं। और मध्यम आंच पर गरम करने के लिए रख देते हैं। जब गन्ने का रस गरम होना सुरू होगा तब उसके ऊपर मैल/गंदगी/लधोई की एक परत बन जाएगी। जिसको चमचे की सहायता से हटा देते हैं। जब गन्ने के रस में अच्छी तरह उबाल आ जाए तब आंच को धीमा कर इसमें भीगे हुए चावल डाल देते हैं।
और फिर चमचे की सहायता से दो-तीन मिनट के अंतराल से रस खीर को चलाते रहते हैं, लगभग बीस से पच्चीस के बाद जब चावल पक जाएँ तब उसमें कटे हुए मेवे( काजू , बादाम आदि इच्छानुसार) डाल देते हैं। अब लगातर चलाते हुए दस-पन्द्रह मिनट तक खीर को और पकने देते हैं. जब चावल अच्छे से रस में मिल/घुट जाएं तब इसमें इलाइची पाउडर मिला देते हैं और गैस को बन्द कर खीर को ठंडा होने देते हैं। इस प्रकार भोग के लिए रस खीर बन कर तैयार हो जाती है।

आवश्यक सामग्री:
गन्ने का ताजा रस, चावल, दूध
मेवा: काजू, बादाम, पिस्ता, इलाइची

संबंधित अन्य नाम:
गन्ने की रस खीर, गन्ने की खीर

दूध वाली रस खीर:
भारत के कुछ जगहों पर, रस खीर को दूध के साथ मिलाकर भी बनाया जाता है। अतः रस-खीर बन जाने के बाद, एक बर्तन में दूध को मध्यम आंच पर उबाल लेते हैं, तथा ठंडी रस खीर में मिला देते हैं। जब रस खीर ठंडी हो जाए तभी दूध को उसमे डालें। अन्यथा, गरम रस खीर में दूध डालने पर दूध के फटजाने की संभावना रहती है।

Ras Kheer Recipe in English

...In some places of India, Ras Kheer is also prepared by mixing milk in it.
यह भी जानें

Bhog-prasad Kheer Bhog-prasadRas Bhog-prasad

अगर आपको यह bhog-prasad पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

भक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस bhog-prasad को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि

सिंघाड़े का हलवा बन कर तैयार हो जाता है। कतलियों को अपने स्वादानुसार काजू अथवा बादाम 1-1 चम्मच से सजा लेते हैं।

पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

मखाने की खीर बनाने की विधि

व्रत, कथा, भोज, रक्षाबंधन तथा जन्माष्टमी में प्रयोग आने वाली प्रमुख मिष्ठान, मखाने की खीर बनाने की सरल रेसिपी...

चावल की पारंपरिक खीर बनाने की विधि

सबसे पहले चावलों को अच्छी तरह धोने के बाद आधा घण्टे के लिए भिगोने रख देते हैं।

समा के चावल की खीर बनाने की विधि

अधिकतम व्रत जिसमें अन्न ग्रहण करना वर्जित होता है, उस व्रत में समा के चावल की खीर का उपयोग किया जाता है। आइए जानें इसे बनाने की विधि...

बेसन के लड्‍डू बनाने की विधि

बेसन के लड्‍डू गजानन श्री गणेश को अति प्रिय हैं, अतः इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान खूब होता है, आइए जानते हैं इन्हें बनाने की सरल विधि...

Hanuman Chalisa -
Ram Bhajan -
×
Bhakti Bharat APP