भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

रस खीर बनाने की विधि


बनाने की विधि:
सर्व प्रथम, चावलों को अच्छी तरह धो कर आधा घण्टे के लिए भिगोने रख देते हैं।
ताजा गन्ने के रस को मलमल के कपड़े (मसलन क्लॉथ ) की सहायता से एक भारी-तली वाले बर्तन (पतीले) में छान लेते हैं। और मध्यम आंच पर गरम करने के लिए रख देते हैं। जब गन्ने का रस गरम होना सुरू होगा तब उसके ऊपर मैल/गंदगी/लधोई की एक परत बन जाएगी। जिसको चमचे की सहायता से हटा देते हैं। जब गन्ने के रस में अच्छी तरह उबाल आ जाए तब आंच को धीमा कर इसमें भीगे हुए चावल डाल देते हैं।

और फिर चमचे की सहायता से दो-तीन मिनट के अंतराल से रस खीर को चलाते रहते हैं, लगभग बीस से पच्चीस के बाद जब चावल पक जाएँ तब उसमें कटे हुए मेवे( काजू , बादाम आदि इच्छानुसार) डाल देते हैं। अब लगातर चलाते हुए दस-पन्द्रह मिनट तक खीर को और पकने देते हैं. जब चावल अच्छे से रस में मिल/घुट जाएं तब इसमें इलाइची पाउडर मिला देते हैं और गैस को बन्द कर खीर को ठंडा होने देते हैं। इस प्रकार भोग के लिए रस खीर बन कर तैयार हो जाती है।

आवश्यक सामग्री:
गन्ने का ताजा रस, चावल, दूध
मेवा: काजू, बादाम, पिस्ता, इलाइची

संबंधित अन्य नाम:
गन्ने की रस खीर, गन्ने की खीर

दूध वाली रस खीर:
भारत के कुछ जगहों पर, रस खीर को दूध के साथ मिलाकर भी बनाया जाता है। अतः रस-खीर बन जाने के बाद, एक बर्तन में दूध को मध्यम आंच पर उबाल लेते हैं, तथा ठंडी रस खीर में मिला देते हैं। जब रस खीर ठंडी हो जाए तभी दूध को उसमे डालें। अन्यथा, गरम रस खीर में दूध डालने पर दूध के फटजाने की संभावना रहती है।

ये भी जानें

Bhog-prasadKheer Bhog-prasadRas Bhog-prasad


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

मूंग दाल के मगौड़े बनाने की विधि

...डार्क ब्राउन हो जाने के बाद उन्हें एक प्लेट में निकाल लेते हैं इसी प्रकार मिश्रण से सारे मगौड़े बना लेते हैं।

तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि

...जब मिश्रण हल्का गरम हो तभी लड्डू बना लें ठंडा होने पर लड्डू नहीं बन पाएँगे।

साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि

साबूदाना को एक बर्तन में साफ पानी में डाल कर निकाल लेते है धुले हुए साबूदानों को आधा कप पानी डाल कर ५ से६ घंटे के लिए भिगोने रख देते हैं...

बाजरा की मङियाँ बनाने की विधि

...गूथे हुए आटे की टिक्की बना कर तैयार कर लेते हैं। इस प्रकार एक बार में तीन से चार टिक्की एक कढ़ाई में तली जा सकती हैं।

अनरसे बनाने की विधि

...अनरसे को तलने के लिए घी न ज्यादा गरम हो और न ज्यादा ठंडा।

रस खीर बनाने की विधि

...भारत के कुछ जगहों पर, रस खीर को दूध के साथ मिलाकर भी बनाया जाता है।

मीठे पुआ बनाने की विधि

जब घी अच्छी तरह गरम हो जाए* तब हाथ से पांच छह पुआ गरम घी में डाल देते हैं...

मीठे गुना बनाने की विधि

...पर इस बात का ध्यान अवश्य रखें की, गुना एक-एक करके ही कढ़ाई में तलें/सेके।

खोया-तिल के लड्डू बनाने की विधि

...तिल से चिट-चिट की आवाज आना बंद होज़ाये तो समझिए सारे तिल भुन गये हैं।

गुड़ की खीर बनाने की विधि

...इस प्रकार छ्ट पूजा में भोग के लिए गुड़ की खीर बन कर तैयार हो जाती है।

close this ads
^
top