सीता नवमी | वट सावित्री व्रत | आज का भजन! | भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

माँ! मुझे तेरी जरूरत है।


माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
कब डालोगी, मेरे घर फेरा
तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा,
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।

कोई न सहारा, बेसहारा अम्बे राणीऐ,
जाऊँगा ना खाली, तेरे द्वार से
तूँ है मेरी माता यह तो, सारा जग जानता है,
बेटा कह दे, तूँ भी कभी प्यार से
हे माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
मुझे दाती, दुखों ने घेरा
मुझे दाती, दुखों ने घेरा
तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा,
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।

तेरे बिना मईया इक्क, पल भी ना गुजरे,
बोल कैसे, जिंदगी गुजारूँ मैं
हर पल याद, सताए तेरी अम्बिके,
हर पल तुझको, पुकारूँ मैं
हे माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
कब होगा, सुखों का सवेरा
कब होगा, सुखों का सवेरा
तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा,
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।

कोई भी सवाली तेरे, दर पे जो आया,
कभी खाली ना, लौटाया महारानीए
रखो मेरी लाज, कभी रहूँ ना मोहताज़,
तेरा युगों तक, राज रहे राणीऐ
हे माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
मेरे दिल में, करो बसेरा
मेरे दिल में, करो बसेरा
तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा,
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।

झण्डेवाली मईया जो भी, झुका तेरे चरणों में,
झण्डे झूले, उसके आसमान में
तेरा जो दीवाना जग, उसका दीवाना मिले,
मान उसे, सारे ही जहान में
हे माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
मैं चंचल, बाल हूँ तेरा
मैं चंचल, बाल हूँ तेरा
तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा,
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।

माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।
कब डालोगी, मेरे घर फेरा
तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा,
माँ ! मुझे तेरी जरूरत है ।

BhajanMaa Jhandewali BhajanMaa Durga BhajanMata BhajanMaa Ambe BhajanNavratri BhajanNarendra Chanchal Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: शीश गंग अर्धंग पार्वती

शीश गंग अर्धंग पार्वती सदा विराजत कैलासी। नंदी भृंगी नृत्य करत हैं, धरत ध्यान सुर सुखरासी॥

भजन: मुझे तूने मालिक, बहुत कुछ दिया है।

मुझे तूने मालिक, बहुत कुछ दिया है। तेरा शुक्रिया है, तेरा शुक्रिया है।

भजन: जो करते रहोगे भजन धीरे धीरे।

जो करते रहोगे भजन धीरे धीरे। तो मिल जायेगा वो सजन धीरे धीरे।

भजन: गुरु बिन घोर अँधेरा संतो!

गुरु बिन घोर अँधेरा संतो, गुरु बिन घोर अँधेरा जी। बिना दीपक मंदरियो सुनो...

भजन : गुरु मेरी पूजा, गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म!

गुरु मेरी पूजा गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म, गुरु भगवंत, गुरु मेरा देव अलख अभेव...

भजन: हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन!

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन, सुन लो मेरी पुकार। पवनसुत विनती बारम्बार॥ अष्ट सिद्धि, नव निद्दी के दाता...

भजन: सीता राम, सीता राम, सीताराम कहिये!

सीता राम सीता राम सीताराम कहिये, जाहि विधि राखे राम ताहि विधि रहिये।...

कृपा मिलेगी श्री राम जी की..

किरपा मिलेगी श्री राम जी की, भक्ति करो, भक्ति करो, दया मिलिगी हनुमान जी की, राम जपो, राम जपो...

भजन: आ लौट के आजा हनुमान...

आ लौट के आजा हनुमान, तुम्हे श्री राम बुलाते हैं। जानकी के बसे तुममे प्राण, तुम्हे श्री राम बुलाते हैं॥

कुमार मैने देखे, सुंदर सखी दो कुमार!

कुमार मैने देखे, सुंदर सखी दो कुमार। हाथों में फूलों का दौना भी सोहे, सुंदर गले में सोहे हार, कुमार मैने देखे...

close this ads
^
top