मेरो राधा रमण गिरधारी (Mero Radha Raman Girdhaari)


मेरो राधा रमण गिरधारी

मेरो राधा रमण गिरधारी,
गिरधारी श्याम बनवारी,
मेरो राधा रमण गिरधारी,
गिरधारी श्याम बनवारी,
मेरो राधा रमण गिरधारी,
गिरधारी श्याम बनवारी,

गोविंद मेरो है, गोपाल मेरो है,
श्री बांके बिहारी, नंदलाल मेरो है,
गोविंद मेरो है, गोपाल मेरो है,
श्री बांके बिहारी, नंदलाल मेरो है,
गोविंद मेरो है, गोपाल मेरो है

भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,

रटो राधे गोविंद,
रटो राधे गोविंद,
रटो राधे गोविंद,
रटो राधे गोविंद,

भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
रटो राधे गोविंद,

भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद

रटो राधे गोविंद,
रटो राधे गोविंद,
भजो राधे गोविंद,
रटो राधे गोविंद,

Mero Radha Raman Girdhaari in English

Menro Radha Raman Giradhari, Giradhari Shyaam Banavari, Menro Radha Raman Giradhari..
यह भी जानें

BhajanShri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanLaddu Gopal BhajanShri Shayam BhajanFalgun Mela Bhajan

अन्य प्रसिद्ध मेरो राधा रमण गिरधारी वीडियो

मेरो राधा रमण गिरधारी - Ayachi Thakur

मेरो राधा रमण गिरधारी - Seema Mishra

मेरो राधा रमण गिरधारी - Kirtan By ISKCON


अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

देख लिया संसार हमने देख लिया

देख लिया संसार हमने देख लिया, सब मतलब के यार हमने देख लिया ।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी। ज्योत जगा के, सर को झुका के...

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल: भजन

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल, तुम बिन रह्यो न जाय हो ॥ बृजराज लडेतोलाडिले ॥

गोबिंद चले चरावन गैया: भजन

गोबिंद चले चरावन गैया । दिनो है रिषि आजु भलौ दिन, कह्यौ है जसोदा मैया ॥

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी: भजन

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे । मन मंदिर की जोत जगा दो..

तुम करुणा के सागर हो प्रभु: भजन

तुम करुणा के सागर हो प्रभु, मेरी गागर भर दो थके पाँव है...

हरी सिर धरे मुकुट खेले होरी: होली भजन

हरी सिर धरे मुकुट खेले होरी, कहाँ से आयो कुंवर कन्हैया, कहाँ से आई राधा गोरी..

🔝