सच्चा है माँ का दरबार, मैय्या का जवाब नहीं: भजन (Saccha Hai Maa Ka Darbar, Maiya Ka Jawab Nahi)


दरबार हजारो देखे है,
पर माँ के दर सा कोई,
दरबार नहीं,
जिस गुलशन मे,
माँ का नूर ना हो,
ऐसा तो कोई गुलज़ार नहीं,
दुनिया से भला मै क्या माँगु,
दुनिया तो एक भीखारन है,
माँगता हूँ अपनी माता से,
जहाँ होता कभी इनकार नहीं ॥

मैय्या है मेरी शेरोवाली,
शान है माँ की बड़ी निराली,
सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥
बड़ा, सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

मैय्या है मेरी शेरोवाली,
शान है माँ की बड़ी निराली,
सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥
बड़ा, सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

ऊँचे पर्वत भवन निराला,
भवन मे देखो सिंघ विशाला,
ऊँचे पर्वत भवन निराला,
भवन मे देखो सिंघ विशाला,
सिंघ पे है मैय्या जी सवार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥
सिंघ पे है मैय्या जी सवार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

माथे की बिंदियां चम चम चमके,
हाथो का कंगना खन खन खनके,
लाल गले मे हार,
मैय्या का जवाब नही॥

बड़ा, सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

माँ है दुर्गा, माँ है काली,
भक्तो की झोली, भरने वाली मैया,
करती बेड़ा पार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

बड़ा, सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

नंगे पेरौ अकबर आया,
ला सोने छत्र चढ़ाया,
दूर किया अहंकार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

बड़ा, सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

मैय्या है मेरी शेरोवाली,
शान है माँ की बड़ी निराली,
सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

बड़ा, सच्चा है माँ का दरबार,
मैय्या का जवाब नहीं ॥

यह भी जानें

BhajanMaa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Sherawali BhajanDurga Puja BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday BhajanAshtami BhajanGupt Navratri BhajanSantoshi Maa BhajanLakhbir Singh BhajanLakkha Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: जिनके हृदय श्री राम बसे

जिनके हृदय श्री राम बसे, उन और को नाम लियो ना लियो । जिनके हृदय श्री राम बसे..

भजन: अयोध्या करती है आव्हान..

अयोध्या करती है आव्हान, ठाट से कर मंदिर निर्माण, शीला की जगह लगा दे प्राण, बिठा दे वहां राम भगवान...

रामजी भजन: मंदिर बनेगा धीरे धीरे

रामजी का मंदिर बनेगा धीरे धीरे, सरयू के तीरे, सरयू के तीरे

जिसकी लागी रे लगन भगवान में..!

जिसकी लागी रे लगन भगवान में, उसका दिया रे जलेगा तूफान में।

नर से नारायण बन जायें...

नर से नारायण बन जायें, प्रभु ऐसा ज्ञान हमें देना॥ दुखियों के दुःख हम दूर करें...

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया । उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया..

तुम बिन मोरी कौन खबर ले गोवर्धन गिरधारी: श्री कृष्ण भजन

तुम बिन मोरी कौन खबर ले, गोवर्धन गिरधारी, भरी सबा में द्रोपदी खाड़ी, राखो लाज हमारी..

🔝