Download Bhakti Bharat APP

करती हूँ तुम्हारा व्रत मैं - माँ संतोषी भजन (Karti Hu Tumhara Vrat Main)


करती हूँ तुम्हारा व्रत मैं - माँ संतोषी भजन

करती हूँ तुम्हारा व्रत मैं,
स्वीकार करो माँ,
मझधार में, मैं अटकी,
बेडा पार करो माँ,
बेडा पार करो माँ,
हे माँ संतोषी, माँ संतोषी ॥

बैठी हूँ बड़ी आशा से,
तुम्हारे दरबार में,
क्यूँ रोये तुम्हारी बेटी,
इस निर्दयी संसार में,
पलटा दो मेरी भी किस्मत,
पलटा दो मेरी भी किस्मत,
चमत्कार करो माँ ।

मझधार में, मैं अटकी,
बेडा पार करो माँ,
बेडा पार करो माँ,
हे माँ संतोषी, माँ संतोषी ॥

मेरे लिए तो बंद है,
दुनिया की सब राहें,
कल्याण मेरा हो सकता है,
माँ आप जो चाहें,
चिंता की आग से मेरा,
चिंता की आग से मेरा,
उद्धार करो माँ ।

मझधार में, मैं अटकी,
बेडा पार करो माँ,
बेडा पार करो माँ,
हे माँ संतोषी, माँ संतोषी ॥

दुर्भाग्य की दीवार को,
तुम आज हटा दो,
मातेश्वरी वापिस मेरे,
सौभाग्य को ला दो,
इस अभागिनी नारी से,
इस अभागिनी नारी से,
कुछ प्यार करो माँ ।

मझधार में, मैं अटकी,
बेडा पार करो माँ,
बेडा पार करो माँ,
हे माँ संतोषी, माँ संतोषी ॥

करती हूँ तुम्हारा व्रत मैं,
स्वीकार करो माँ,
मझधार में, मैं अटकी,
बेडा पार करो माँ,
बेडा पार करो माँ,
हे माँ संतोषी, माँ संतोषी ॥
- Movie: Jai Santoshi Maa 1975

Karti Hu Tumhara Vrat Main in English

Karti Hu Tumhara Vrat Main, Swikar Karo Maa, Majhdhar Mein, Main Atki...
यह भी जानें

Bhajan Maa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Sherawali BhajanDurga Puja BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday BhajanAshtami BhajanGupt Navratri BhajanSantoshi Maa BhajanUsha Mangeshkar BhajanHindi Movie Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

उठ जाग मुसाफिर भोर भई - भजन

उठ जाग मुसाफिर भोर भई, अब रैन कहाँ जो सोवत है।..

बीच भंवर में फसी मेरी नैया: भजन

बीच भंवर में फसी मेरी नैया, तुम्ही हो खिवैया माँ, तुम्ही हो खिवैया ॥

प्राणो से भी प्यारा, दादी धाम तुम्हारा: भजन

प्राणो से भी प्यारा, दादी धाम तुम्हारा, दर्शन कर हो जाता, ये जीवन सफल हमारा, तूने सबको तारा, सबका जीवन संवारा,
तेरे बिन कौन दादी, हम भक्तों का सहारा ॥

सज धज बैठ्या दादीजी, लुन राई वारा: भजन

सज धज बैठ्या दादीजी, लुन राई वारा, निजरा उतारा माँ की, निजरा उतारा, निजरा उतारा माँ की, निजरा उतारा ॥

जिस ओर नजर फेरूं दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है: भजन

जिस ओर नजर फेरूं दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है, सतियों में तू सिरमौर है माँ, साँचा ये द्वारा तेरा है, जिस ओर नजर फेरूँ दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है ॥

मैया तेरे चरणों की: भजन

मैया तेरे चरणों की, अम्बे तेरे चरणों की, गर धूल जो मिल जाए, सच कहती हूँ मैया, तक़दीर बदल जाए, मैया तेरे चरणो की ॥

साँसों की माला पे सिमरूं मैं, पी का नाम - भजन

साँसों की माला पे सिमरूं मैं, पी का नाम, अपने मन की मैं जानूँ, और पी के मन की राम, अपने मन की मैं जानूँ और पी के मन की राम ॥

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App