भजन: तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे (Tera Kisne Kiya Shringar Sanware)


भजन: तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे

तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे,
तू लगे दूल्हा सा दिलदार सांवरे ।
तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे,
तू लगे दूल्हा सा दिलदार सांवरे ।

मस्तक पर मलियागिरी चन्दन,
केसर तिलक लगाया ।
मोर मुकुट कानो में कुण्डल,
इत्र खूब बरसाया ।
महकता रहे यह दरबार सांवरे,
तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे ॥

बागो से कलियाँ चुन चुन कर,
सुन्दर हार बनाया ।
रहे सलामत हाथ सदा वो,
जिसने तुझे सजाया ।
सजाता रहे वो हर बार सांवरे
तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे ॥

बोल सांवरे बोल तुम्हे मैं,
कौन सा भजन सुनाऊँ ।
ऐसा कोई राग बतादे,
तू नाचे मैं गाऊं ।
नचाता रहूँ मैं, हर बार सांवरे,
तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे ॥

तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे,
तू लगे दूल्हा सा दिलदार सांवरे ।
तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे,
तू लगे दूल्हा सा दिलदार सांवरे ।

Tera Kisne Kiya Shringar Sanware in English

Tera Kisne Kiya Shringar Sanware, Tu Lage Dulha Sa Dildar Sanware । Mastak Par Maliyagiri Chandan..
यह भी जानें

BhajanShri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanLaddu Gopal BhajanRadhashtami BhajanKrishna Chandra Thakurji Bhajan

अन्य प्रसिद्ध भजन: तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे वीडियो

तेरा किसने किया श्रृंगार सांवरे - पूज्या प्राची देवी जी


अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

भजमन राम चरण सुखदाई: भजन

भज मन राम चरण सुखदाई॥ जिहि चरननसे निकसी सुरसरि संकर जटा समाई..

चित्रकूट के घाट-घाट पर, शबरी देखे बाट: भजन

चित्रकूट के घाट घाट पर, शबरी देखे बाट, राम मेरे आ जाओ, राम मेरे आ जाओ...

कृपा मिलेगी श्री राम जी की.. भजन

किरपा मिलेगी श्री राम जी की, भक्ति करो, भक्ति करो, दया मिलिगी हनुमान जी की, राम जपो, राम जपो...

जरी की पगड़ी बांधे, सुंदर आँखों वाला: भजन

जरी की पगड़ी बांधे, सुंदर आँखों वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी..

गोपी गीत - जयति तेऽधिकं जन्मना

जयति तेऽधिकं जन्मना व्रजः श्रयत इन्दिरा शश्वदत्र हि । दयित दृश्यतां दिक्षु तावका स्त्वयि धृतासवस्त्वां विचिन्वते ॥

मेरे सरकार का, दीदार बड़ा प्यारा है: भजन

मेरे सरकार का, दीदार बड़ा प्यारा है । कृष्ण मेरा प्यारा..

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन: भजन

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन, सुन लो मेरी पुकार। पवनसुत विनती बारम्बार॥ अष्ट सिद्धि, नव निद्दी के दाता...

🔝