Hanuman Chalisa

दया कर दान विद्या का: प्रार्थना (Daya Kar Daan Vidya Ka Hume Parmatma Dena)


दया कर दान विद्या का: प्रार्थना

भारतीय संस्कृति के अनुसार नित्य प्रातः शिक्षा ग्रहण करने से पहिले माँ सरस्वती या प्रभु की आराधना करने का विधान है। देश के एक हजार से ज्यादा केंद्रीय विद्यालयों और जवाहर नवोदय विद्यालय में बच्चों द्वारा सुबह की सभा में गाई जाने वाली हिंदी प्रार्थना..

दया कर दान विद्या का,
हमें परमात्मा देना,
दया करना हमारी आत्मा में,
शुद्धता देना ।

हमारे ध्यान में आओ,
प्रभु आँखों में बस जाओ,
अँधेरे दिल में आकर के,
प्रभु ज्योति जगा देना ।

बहा दो प्रेम* की गंगा,
दिलों में प्रेम का सागर,
हमें आपस में मिल-जुल के,
प्रभु रहना सीखा देना ।

हमारा धर्म हो सेवा,
हमारा कर्म हो सेवा,
सदा ईमान हो सेवा,
व सेवक जन बना देना ।

वतन के वास्ते जीना,
वतन के वास्ते मरना,
वतन पर जाँ फिदा करना,
प्रभु हमको सीखा देना ।

दया कर दान विद्या का,
हमें परमात्मा देना,
दया करना हमारी आत्मा में,
शुद्धता देना ।

*प्रेम: कुछ लोग "प्रेम" की जगह "ज्ञान" शब्द को प्रयोग में लाते हैं.

Daya Kar Daan Vidya Ka Hume Parmatma Dena in English

According to the Indian culture, student worshiping Maa Saraswati or Lord before starting the daily
यह भी जानें

Bhajan Arya Samaj BhajanVed BhajanVedic BhajanHawan BhajanYagya BhajanMotivational BhajanMorning BhajanDainik BhajanDaily BhajanPrarthana BhajanVandana BhajanJain BhajanJainism BhajanSchool BhajanCollage BhajanGurukul BhajanInspirational BhajanShanti Dham Bhajan

अन्य प्रसिद्ध दया कर दान विद्या का: प्रार्थना वीडियो

प्रार्थना दया कर दान विद्या का - विधि देशवाल

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

अरे माखन की चोरी छोड़ साँवरे मैं समझाऊँ तोय: भजन

अरे माखन की चोरी छोड़, साँवरे मैं समझाऊँ तोय, मैं समझाऊँ तोय, कन्हैया मैं समझाऊँ तोय, अरें माखन की चोरी छोड़, साँवरे मैं समझाऊँ तोय ॥

रचा है श्रष्टि को जिस प्रभु ने - भजन

रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने, वही ये सृष्टि चला रहे है, जो पेड़ हमने लगाया पहले...

कई जन्मों से बुला रही हूँ: भजन

कई जन्मों से बुला रही हूँ, कोई तो रिश्ता जरूर होगा, नजरों से नजरें मिला भी ना पाए..

करो कृपा कुछ ऐसी, तेरे दर आता रहूँ: भजन

करो कृपा कुछ ऐसी, तेरे दर आता रहूँ, तुम रूठो मुझसे भले चाहे, पर मैं मनाता रहूं, करों कृपा कुछ ऐसी, तेरे दर आता रहूँ ॥

तड़पता है तेरा ये दास संभालो: भजन

चले आओ, तड़पता है तेरा ये दास संभालो, मिलन की आस ना टूटे संभालो ॥

मैया के दर पे नज़ारा मिलता है: भजन

मैया के दर पे नज़ारा मिलता है, ग़म के मारों को सहारा मिलता है, मैया ने बदली है सबकी तक़दीरें, सबकी कश्ती को किनारा मिलता है, मैया के दर पे नज़ारा मिलता है ॥

दादी चरणों में तेरे पड़ी, मैया: भजन

दादी चरणों में तेरे पड़ी, मैया तुझको निहारूं खड़ी, हाथ किरपा का रख दे जरा, हाथ किरपा का रख दे जरा, लागि नैनो में असुवन झड़ी, मैया तुझको निहारूं खड़ी, दादी चरणो में तेरे पड़ी, मैया तुझको निहारूं खड़ी ॥

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App