Hanuman Chalisa

झूलन चलो हिंडोलना, वृषभान नंदनी - भजन (Jjhulan Chalo Hindolana Vrashbhanu Nandni)


झूलन चलो हिंडोलना, वृषभान नंदनी - भजन

झूलन चलो हिंडोलना, वृषभान नंदनी,
झूलन चलो हिडोलना, वृषभान नंदनी।

सावन की तीज आई, नवघोर घटा छाई,
सावन की तीज आई, नवघोर घटा छाई,
नवघोर घटा छाई,
मेघन झड़ी लगाई, पड़ी बूँद मंदिनी,
॥ झूलन चलो हिडोलना...॥

सुंदर कदम की डारी, झूलो पड़यो है प्यारी,
सुंदर कदम की डारी, झूलो पड़यो है प्यारी,
झूलो पड़यो है प्यारी,
देखो उमर किशोरी, सब दुख निकंदिनि,
॥ झूलन चलो हिडोलना...॥

पहरो सुरंग सारी, मानो विनय हमारी,
पहरो सुरंग सारी, मानो विनय हमारी,
मानो विनय हमारी,
मुखचंद्र की उजियारी, मृदुभाष नंदिनी,
॥ झूलन चलो हिडोलना...॥

झूलन चलो हिंडोलना, वृषभान नंदनी,
झूलन चलो हिडोलना, वृषभान नंदनी।

Jjhulan Chalo Hindolana Vrashbhanu Nandni in English

Jhulan Chalo Hidolana, Vrshbhan Nandni । Savan Ki Teej Aai, Navghor Ghata Chhai
यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanJanmashtami BhajanBrij BhajanMridul Shastri Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

भए प्रगट कृपाला दीनदयाला - भजन

श्री रामअवतार स्तुति बधाई, सोहर, जन्मदिन अवसरों पर लोकप्रिय है। भए प्रगट कृपाला दीनदयाला, कौसल्या हितकारी ।

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे, त्वया हिन्दुभूमे सुखं वर्धितोऽहम्...

बांटो बांटो मिठाई मनाओ ख़ुशी - भजन

बांटो बांटो मिठाई मनाओ ख़ुशी, मुँह मीठा करवाओ अवध वासियो, आज वन से अवध आ रहे है प्रभु..

कनक भवन दरवाजे पड़े रहो - भजन

कनक भवन दरवाजे पड़े रहो, जहाँ सियारामजी विराजे पड़े रहो, सुघर सोपान सो द्वार सुहावे

राम कहने से तर जाएगा - भजन

राम कहने से तर जाएगा, पार भव से उतर जायेगा। उस गली होगी चर्चा तेरी...

आए हैं प्रभु श्री राम, भरत फूले ना समाते - भजन

आए हैं प्रभु श्री राम, भरत फूले ना समाते हैं। तन पुलकित मुख बोल ना आए...

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी - भजन

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी, कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी, रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी..

Durga Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App