तन के तम्बूरे में, दो सांसो की तार बोले: भजन (Tan Ke Tambure Me Do Sanso Ki Tar Bole)


तन के तम्बूरे में, दो सांसो की तार बोले: भजन

तन तम्बूरा, तार मन,
अद्भुत है ये साज ।
हरी के कर से बज रहा,
हरी ही है आवाज ।

तन के तम्बूरे में दो,
सांसो की तार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

तन के तम्बूरे में दो,
सांसो की तार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

अब तो इस मन के मंदिर में,
प्रभु का हुआ बसेरा ।
मगन हुआ मन मेरा,
छूटा जनम जनम का फेरा ।
मन की मुरलिया में,
सुर का सिंगार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

तन के तम्बूरे में दो,
सांसो की तार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

लगन लगी लीला धारी से,
जगी रे जगमग ज्योति ।
राम नाम का हीरा पाया,
श्याम नाम का मोती ।
प्यासी दो अंखियो में,
आंसुओ के धार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

तन के तम्बूरे में दो,
सांसो की तार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

तन के तम्बूरे में दो,
सांसो की तार बोले ।
जय सिया राम राम,
जय राधे श्याम श्याम ।

Tan Ke Tambure Me Do Sanso Ki Tar Bole in English

Tan Ke Tambure Mein, Do Saanso Ki Taar Bole, Jay Siya Ram Ram, Jay Radhe Shyam Shyam...
यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanShri Kunj Bihari BhajanLaddu Gopal BhajanKhatushayam Ji Bhajan

अन्य प्रसिद्ध तन के तम्बूरे में, दो सांसो की तार बोले: भजन वीडियो

सनोज सागर जी

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

तेरी जय हो गणेश - भजन

तेरी जय हो गणेश, किस जननी ने तुझे जनम दियो है,..

घर में पधारो गजानन जी - भजन

घर में पधारो गजाननजी, मेरे घर में पधारो, ग्रह प्रवेश के समय गाए जाने वाला पॉपुलर श्री गणेश भजन...

रख लाज मेरी गणपति - भजन

रख लाज मेरी गणपति, अपनी शरण में लीजिए । कर आज मंगल गणपति..

नमामि श्री गणराज दयाल: भजन

नमामि श्री गणराज दयाल, करत हो भक्तन का प्रतिपाल...

कदम कदम पर रक्षा करता: भजन

कदम कदम पर रक्षा करता, घर घर करे उजाला उजाला, खाटू वाला खाटू वाला, ओ लीले घोड़े वाला, खाटू वाला खाटू वाला, ओ लीले घोड़े वाला ॥

प्रभु जो तुम्हे हम, बताकर के रोये: भजन

प्रभु जो तुम्हे हम, बताकर के रोये, बताकर के रोये, उसे दिल में कब से, दबा कर के रोये, प्रभु जो तुम्हें हम, बताकर के रोये ॥

चटक मटक चटकीली चाल, और ये घुंघर वाला बाल: भजन

चटक मटक चटकीली चाल, और ये घुंघर वाला बाल, तिरछा मोर मुकट सिर पे, और ये गल बैजंती माल, तेरी सांवरी सुरतिया, पे दिल गई हार, तेरी सांवरी सुरतिया, पे दिल गई हार ॥

Download BhaktiBharat App