Download Bhakti Bharat APP

उनकी रेहमत का झूमर सजा है - भजन (Unki Rehmat Ka Jhoomar Saja Hai)


उनकी रेहमत का झूमर सजा है - भजन

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।
मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

मेरी झोली भी सरकार भर दो,
अपने सब की झोली भरी है,
अपनी महफिल से भेजो न खाली,
अपने सबकी झोली भरी है ॥

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।
मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

मुझको महसूस यह हो रहा है,
तेरी महफिल में करुणा भरी है,
अपनी महफिल में करुना भरसा दो,
कमलीवाले की महफिल सजी है ॥

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।
मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

तुमे अपना समजने मैं आया,
मांगने को तो दुनिया पड़ी है,
मुझे अपना समज के दया कर,
तेरी महफिल में करुना भरी है ॥

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।
मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

तेरे दर से ना कोई खाली,
अपने सब की झोली भरी है,
मेरी झोली भी सरकार भर दो
अपने सब की झोली भरी है ॥

उनकी रेहमत का झूमर सजा है ।
मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।
श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।
श्याम राधे राधे, घनश्याम राधे राधे ।
कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।
कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।
कुंज मे विराजे, घनश्याम राधे राधे ।
श्री वृंदावन, राधे राधे ।
श्री वृंदावन, राधे राधे ।
श्री वृंदावन, राधे राधे ।

Unki Rehmat Ka Jhoomar Saja Hai in English

Unki Rehmat Ka Jhoomar Saja Hai । Murliwale Ki Mahphil Saji Hai ॥
यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBrij BhajanJanmashtami BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanLaddu Gopal BhajanRadhashtami BhajanShri Radha Krishna BhajanFagan Mela BhajanShri Shayam BhajanAnil Hanslas Bhaiya Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

भए प्रगट कृपाला दीनदयाला - भजन

श्री रामअवतार स्तुति बधाई, सोहर, जन्मदिन अवसरों पर लोकप्रिय है। भए प्रगट कृपाला दीनदयाला, कौसल्या हितकारी ।

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे, त्वया हिन्दुभूमे सुखं वर्धितोऽहम्...

बांटो बांटो मिठाई मनाओ ख़ुशी - भजन

बांटो बांटो मिठाई मनाओ ख़ुशी, मुँह मीठा करवाओ अवध वासियो, आज वन से अवध आ रहे है प्रभु..

कनक भवन दरवाजे पड़े रहो - भजन

कनक भवन दरवाजे पड़े रहो, जहाँ सियारामजी विराजे पड़े रहो, सुघर सोपान सो द्वार सुहावे

राम कहने से तर जाएगा - भजन

राम कहने से तर जाएगा, पार भव से उतर जायेगा। उस गली होगी चर्चा तेरी...

आए हैं प्रभु श्री राम, भरत फूले ना समाते - भजन

आए हैं प्रभु श्री राम, भरत फूले ना समाते हैं। तन पुलकित मुख बोल ना आए...

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी - भजन

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी, कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी, रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी..

Durga Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App