प्रभु जी तुम संगति सरन तिहारी (Mere Prabhuji Sangati Sharan Tihari)


प्रभु जी तुम संगति सरन तिहारी

प्रभु जी तुम संगति सरन तिहारी।
जग-जीवन राम मुरारी॥

गली-गली को जल बहि आयो,
सुरसरि जाय समायो।
संगति के परताप महातम,
नाम गंगोदक पायो॥
॥ प्रभु जी तुम संगति...॥

स्वाति बूँद बरसे फनि ऊपर,
सोई विष होइ जाई।
ओही बूँद कै मोती निपजै,
संगति की अधिकाई॥
॥ प्रभु जी तुम संगति...॥

तुम चंदन हम रेंड बापुरे,
निकट तुम्हारे आसा।
संगति के परताप महातम,
आवै बास सुबासा॥
॥ प्रभु जी तुम संगति...॥

जाति भी ओछी, करम भी ओछा,
ओछा कसब हमारा।
नीचे से प्रभु ऊँच कियो है,
कहि 'रैदास चमारा॥

प्रभु जी तुम संगति सरन तिहारी।
जग-जीवन राम मुरारी॥

Mere Prabhuji Sangati Sharan Tihari in English

Prabhu Ji Tum Sangati Saran Tihari । Jag-jeevan Ram Murari ॥ Gali-gali Ko Jal Bahi Aayo...
यह भी जानें

BhajanGuru BhajanGurudev BhajanGuru Purnima BhajanVyasa Purnima BhajanSant Ravidas Bhajan

अन्य प्रसिद्ध प्रभु जी तुम संगति सरन तिहारी वीडियो


अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

देख लिया संसार हमने देख लिया

देख लिया संसार हमने देख लिया, सब मतलब के यार हमने देख लिया ।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी। ज्योत जगा के, सर को झुका के...

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल: भजन

श्री गोवर्धन वासी सांवरे लाल, तुम बिन रह्यो न जाय हो ॥ बृजराज लडेतोलाडिले ॥

गोबिंद चले चरावन गैया: भजन

गोबिंद चले चरावन गैया । दिनो है रिषि आजु भलौ दिन, कह्यौ है जसोदा मैया ॥

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी: भजन

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे । मन मंदिर की जोत जगा दो..

तुम करुणा के सागर हो प्रभु: भजन

तुम करुणा के सागर हो प्रभु, मेरी गागर भर दो थके पाँव है...

हरी सिर धरे मुकुट खेले होरी: होली भजन

हरी सिर धरे मुकुट खेले होरी, कहाँ से आयो कुंवर कन्हैया, कहाँ से आई राधा गोरी..

🔝