close this ads

भजन: राधे कृष्ण की ज्योति अलोकिक


राधे कृष्ण की ज्योति अलोकिक, तीनों लोक में छाये रही है।
भक्ति विवश एक प्रेम पुजारिन, फिर भी दीप जलाये रही है।
कृष्ण को गोकुल से राधे को...
कृष्ण को गोकुल से राधे को, बरसाने से बुलाय रही है।

दोनों करो स्वीकार कृपा कर, जोगन आरती गाये रही है।
दोनों करो स्वीकार कृपा कर, जोगन आरती गाये रही है।

भोर भये ते सांज ढ़ले तक, सेवा कौन इतनेम म्हारो।
स्नान कराये वो वस्त्र ओढ़ाए वो, भोग लगाए वो लागत प्यारो।
कबते निहारत आपकी ओर...
कबते निहारत आपकी ओर, की आप हमारी और निहारो।

राधे कृष्ण हमारे धाम को, जानी वृन्दावन धाम पधारो।
राधे कृष्ण हमारे धाम को, जानी वृन्दावन धाम पधारो।

Read Also
» दिल्ली मे कहाँ मनाएँ श्री कृष्ण जन्माष्टमी।
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।
» जानें दिल्ली मे ISKCON मंदिर कहाँ-कहाँ हैं?
» दिल्ली के प्रमुख श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर।
» ब्रजभूमि के प्रसिद्ध मंदिर!
» आरती: श्री बाल कृष्ण जी | भोग आरती: श्रीकृष्ण जी | बधाई भजन: लल्ला की सुन के मै आयी!

Hindi Version in English

Raadhe Krshna Kee Jyoti Alokik, Teenon Lok Mein Chhaaye Rahee Hai।
Bhakti Vivash Ek Prem Pujaarin, Phir Bhee Deep Jalaaye Rahee Hai।
Krshn Ko Gokul Se Raadhe Ko, Barasaane Se Bulaay Rahee Hai।

Dono Karo Swikar Krapa Kar, Jogan Aarti Gaye Rahi Hai।
Dono Karo Swikar Krapa Kar, Jogan Aarti Gaye Rahi Hai।

Bhor Bhaye Te Saanj Dhale Tak, Seva Kaun Itanem Mhaaro।
Snaan Karaaye Vo Vastr Odhae Vo, Bhog Lagae Vo Laagat Pyaaro।
Kabate Niharat Aapakee Aur, Kee Aap Hamaaree Aur Nihaaro। Kabate Niharat...

Radhe Krishn Hamare Dham Ko, Jani Vrindavan Dham Padharo।
Radhe Krishn Hamare Dham Ko, Jani Vrindavan Dham Padharo।

Movie: Vivah
Music : Ravindra Jain
lyrics : Ravindra Jain
Singers : Shreya Ghoshal

BhajanKrishna BhajanRadha Rani BhajanRadha Krishn Bhajan


If you love this article please like, share or comment!

* If you are feeling any data correction, please share your views on our contact us page.
** Please write your any type of feedback or suggestion(s) on our contact us page. Whatever you think, (+) or (-) doesn't metter!

भजन: तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये!

साँची ज्योतो वाली माता, तेरी जय जय कार। तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये, मैं आया मैं आया शेरा वालिये।

भजन: मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की।

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की। जय जय संतोषी माता जय जय माँ॥

भजन: चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है।

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है। ऊँचे पर्वत पर रानी माँ ने दरबार लगाया है।

ऐसा प्यार बहा दे मैया...

ऐसा प्यार बहा दे मैया, चरणों से लग जाऊ मैं। सब अंधकार मिटा दे मैया...

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ!

दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ, जय बोलो जय माता दी, जो भी दर पे आए, जय हो...

वो है जग से बेमिसाल सखी..

वो है जग से बेमिसाल सखी, माँ शेरोवाली कमाल सखी, की री तुझे क्या बतलाऊं...

बेटा जो बुलाए माँ को आना चाहिए॥

मैया जी के चरणों मे ठिकाना चाहिए। बेटा जो बुलाए माँ को आना चाहिए॥

मन की मुरादें, पूरी कर माँ...

मन की मुरादें, पूरी कर माँ, दर्शन करने को मैं तो आउंगी। तेरा दीदार होगा, मेरा उधार होगा...

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी।

माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी। ज्योत जगा के, सर को झुका के...

मेरी अखियों के सामने ही रहना, माँ जगदम्बे।

मेरी अखियों के सामने ही रहना, माँ शेरों वाली जगदम्बे।

^
top