तेरे द्वार खड़ा भगवान, भक्त भर..: भजन (Tere Dwaar Khada Bhagawan Bhagat Bhar De Re Jholi)


तेरे द्वार खड़ा भगवान, भक्त भर..: भजन

तेरे द्वार खड़ा भगवान,
भक्त भर दे रे झोली ।
तेरा होगा बड़ा एहसान,
के युग युग तेरी रहेगी शान ॥

डोल उठी है सारी धरती देख रे,
डोला गगन है सारा ।
भीख मांगने आया तेरे घर,
जगत का पालनहारा ।
मैं आज तेरा मेहमान,
कर के रे मुझ से जरा पहचान ॥
भक्त भर दे रे झोली ।
॥ तेरे द्वार खड़ा भगवान...॥

आज लुटा दे रे सर्वस अपना,
मान ले रे कहना मेरा ।
मिट जायेगा पल में तेरा,
जनम जनम का फेरा रे ।
तू छोड़ सकल अभिमान,
अमर कर ले रे तू अपना दान ॥
भक्त भर दे रे झोली ।
॥ तेरे द्वार खड़ा भगवान...॥

तेरे द्वार खड़ा भगवान,
भक्त भर दे रे झोली।
तेरा होगा बड़ा एहसान,
के युग युग तेरी रहेगी शान ॥

Tere Dwaar Khada Bhagawan Bhagat Bhar De Re Jholi in English

Tere Dwar Khada Bhagawan, Bhakt Bhar De Re Jholi । Tera Hoga Bada Ehasan...
यह भी जानें

Bhajan Vedic BhajanVed BhajanSchool BhajanCollage BhajanArya Samaj BhajanInspirational BhajanPradeep Bhajan

अन्य प्रसिद्ध तेरे द्वार खड़ा भगवान, भक्त भर..: भजन वीडियो

- Hemant Chauhan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आदियोगी - दूर उस आकाश की गहराइयों में

दूर उस आकाश की गहराइयों में, एक नदी से बह रहे हैं आदियोगी...

उठो सोने वालों सबेरा हुआ है: भजन

उठो सोने वालों सबेरा हुआ है । वतन के फकीरों का फेरा हुआ है ॥ उठो अब निराशा निशा खो रही है..

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं: भजन

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम।

तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान: भजन

तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान। किसने जानी तेरी माया...

राम कहानी सुनो रे राम कहानी: भजन

राम कहानी सुनो रे राम कहानी। कहत सुनत आवे आँखों में पानी। श्री राम, जय राम, जय-जय राम...

प्रभु हम पे कृपा करना, प्रभु हम पे दया करना: भजन

प्रभु हम पे कृपा करना, प्रभु हम पे दया करना। बैकुंठ तो यही है, हृदय में रहा करना॥

जो भजे हरि को सदा: भजन

जो भजे हरि को सदा, सोहि परम पद पायेगा, देह के माला..

🔝