close this ads

भजन: घर में पधारो गजानन जी!


ग्रह प्रवेश के समय गाए जाने वाला पॉपुलर श्री गणेश भजन। जिसमें प्रथम देव, श्रेष्ठ श्री गणेश जी का आवाहन किया जाता है।

घर में पधारो गजाननजी, मेरे घर में पधारो
रिद्धि सिद्धि लेके आओ गणराजा, मेरे घर में पधारो॥
॥ घर में पधारो गजाननजी ॥

राम जी आना, लक्ष्मण जी आना
संग में लाना सीता मैया, मेरे घर में पधारो॥
॥ घर में पधारो गजाननजी ॥

ब्रम्हा जी आना, विष्णु जी आना
भोले शशंकर जी को ले आना, मेरे घर में पधारो॥
॥ घर में पधारो गजाननजी ॥

लक्ष्मी जी आना, गौरी जी आना
सरस्वती मैया को ले आना, मेरे घर में पधारो॥
॥ घर में पधारो गजाननजी ॥

विघन को हारना, मंगल करना,
कारज शुभ कर जाना, मेरे घर में पधारो॥
॥ घर में पधारो गजाननजी ॥

Read Also
» आ जाओ भोले बाबा मेरे मकान मे!
» गणेशोत्सव - Ganesh + Utsav
» दिल्ली मे यहाँ विराजमान हैं, श्री गणेश जी!
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री गणेश मंदिर!
» मंगलकारी श्री गणेश आरती | आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो! | भोग आरती: श्री गणेश जी

Hindi Version in English

Ghar Mein Padharo Gajananji, Mere Ghar Mein Padharo
Riddhi Siddhi Leke Aao Ganaraja, Mere Ghar Mein Padharo॥
॥Ghar Mein Padharo Gajananji...॥

Ram Ji Aana, Lakshman Ji Aana
Sang Mein Lana Sita Maiya, Mere Ghar Mein Padharo॥
॥Ghar Mein Padharo Gajananji...॥

Bramha Ji Aana, Vishnu Ji Aana
Bhole Shashankar Ji Ko Le Aana, Mere Ghar Mein Padharo॥
॥Ghar Mein Padharo Gajananji...॥

Lakshmee Ji Aana, Gauri Ji Aana
Sarasvatee Maiya Ko Le Aana, Mere Ghar Mein Padharo॥
॥Ghar Mein Padharo Gajananji...॥

Vighan Ko Haarana, Mangal Karana,
Karaj Shubh Kar Jana, Mere Ghar Mein Padharo॥
॥Ghar Mein Padharo Gajananji...॥

- BhaktiBharat


If you love this article please like, share or comment!

भजन: हरी नाम सुमिर सुखधाम, जगत में...

हरी नाम सुमिर सुखधाम, हरी नाम सुमिर सुखधाम, जगत में जीवन दो दिन का...

सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया!

सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया। दिल दीवाना हो गया...

भजन: तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान।

तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान। किसने जानी तेरी माया...

राम का सुमिरन किया करो!

राम का सुमिरन किया करो, प्रभु के सहारे जिया करो...

ब्रजराज ब्रजबिहारी! इतनी विनय हमारी

ब्रजराज ब्रजबिहारी, गोपाल बंसीवारे, इतनी विनय हमारी, वृन्दा-विपिन बसा ले...

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं।

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम।

मुकुन्द माधव गोविन्द बोल।

मुकुन्द माधव गोविन्द बोल। केशव माधव हरि हरि बोल॥

धन जोबन और काया नगर की...

धन जोबन और काया नगर की, कोई मत करो रे मरोर॥ - विधि देशवाल

भजन: आजा.. नंद के दुलारे हो..हो..

आजा.. नंद के दुलारे हो..हो.., रोवे अकेली मीरा..आ.., आजा.. नंद के दुलारे हो..हो.. - विधि देशवाल

भजन: वैष्णव जन तो तेने कहिये, जे...

वैष्णव जन तो तेने कहिये, जे पीड परायी जाणे रे। पर दुःखे उपकार करे तो ये...

Latest Mandir

^
top