close this ads

माँ शारदे! हम तो हैं बालक तेरे...


माँ शारदे, माँ शारदे,
माँ शारदे, माँ शारदे,
ओ मैया हम तो हैं बालक तेरे माँ,
॥माँ शारदे माँ शारदे...॥

तू है दयालु बड़ी,
माँ वीणा पाणी,
करती दया हो सब पे,
अम्बे भवानी,
हो मैया विद्या का आके,
हमको भी भण्डार दे,
॥माँ शारदे, माँ शारदे...॥

करदो हमारी आज,
माँ पूरी आशा,
कब से है ‘शर्मा’ तेरे,
दर्शन का प्यासा,
ओ मैया दर्शन हमे भी,
आ के माँ एक बार दे,
॥माँ शारदे, माँ शारदे...॥

मांगे न ‘लक्खा’ तुमसे,
दौलत खजाना,
सात स्वरों का मुझको,
अमृत पिलाना,
ओ मैया मेरी ही माता के जैसा,
बस प्यार दे,
॥माँ शारदे, माँ शारदे...॥

माँ शारदे माँ शारदे,
मा शारदे माँ शारदे,
ओ मैया हम तो हैं बालक तेरे माँ,
॥माँ शारदे, माँ शारदे...॥

Read Also:
» नवरात्रि - Navratri | दुर्गा पूजा - Durga Puja
» दिल्ली के आस-पास माता के प्रसिद्ध मंदिर! | जानें दिल्ली के कालीबाड़ी मंदिरों के बारे मे!
» अम्बे तू है जगदम्बे काली | जय अम्बे गौरी | आरती माँ लक्ष्मीजी | आरती: श्री पार्वती माँ | आरती: माँ सरस्वती जी

Hindi Version in English

Maa Sharade, Maa Sharade।
Maa Sharade, Maa Sharade।
O Maiya Ham To Hain Balak Tere
॥ Maa Sharade, Maa Sharade...॥

Too Hai Dayaalu Badee Maa Veena Vadini।
Karatee Daya Ho Sab Pe Ambe Bhavani
Vo Maiya Vidya Ka Aake Hamako Bhee Bhandaar De।
॥ Maa Sharade, Maa Sharade...॥

Karado Hamaari Aaj Maa Poori Aasha।
Kab Se Hai Sharma Tere Darshan Ka Pyaasa।
O Maiya Darshan Hame Bhee Aa Ke Maa Ek Baar De।
॥ Maa Sharade, Maa Sharade...॥

Maage Na Lakkha Tumase Daulat Khajana।
Saat Savaaron Ka Mujhako Amrt Pilaana।
O Maiya Meree Hee Maata Ke Jaisa Bas Pyaar De।

Maa Sharade, Maa Sharade।
Maa Sharade, Maa Sharade।
O Maiya Ham To Hain Balak Tere
॥ Maa Sharade, Maa Sharade...॥

BhajanMaa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Saraswati Bhajan


If you love this article please like, share or comment!

* If you are feeling any data correction, please share your views on our contact us page.
** Please write your any type of feedback or suggestion(s) on our contact us page. Whatever you think, (+) or (-) doesn't metter!

गुरु मेरी पूजा, गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म!

गुरु मेरी पूजा गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म, गुरु भगवंत, गुरु मेरा देव अलख अभेव...

ऐसे मेरे मन में विराजिये!

ऐसे मेरे मन में विराजिये, कि मै भूल जाऊं काम धाम, गाऊं बस तेरा नाम...

जैसे तुम सीता के राम...

जैसे तुम सीता के राम, जैसे लक्ष्मण के सम्मान, जैसे हनुमत के भगवान...

अमृत बेला गया आलसी सो रहा बन आभागा !

बेला अमृत गया, आलसी सो रहा, बन आभागा, साथी सारे जगे, तू न जागा...

मेरो मॅन लग्यॉ बरसाने मे...

मेंरो मन लग्यो बरसाने में, जहाँ विराजे राधा रानी, मन हट्यो दुनियाँदारी से, मन हट्यो दुनियाँदारी से...

हे रोम रोम मे बसने वाले राम!

हे रोम रोम मे बसने वाले राम, जगत के स्वामी, हे अन्तर्यामी, मे तुझ से क्या मांगूं।

जिसकी लागी रे लगन भगवान में..!

जिसकी लागी रे लगन भगवान में, उसका दिया रे जलेगा तूफान में।

भजमन राम चरण सुखदाई।

भज मन राम चरण सुखदाई॥ जिहि चरननसे निकसी सुरसरि संकर जटा समाई...

जय हो शिव भोला भंडारी!

जय हो शिव भोला भंडारी लीला अपरंपार तुम्हारी, लेके नाम, तेरा नाम, तेरे धाम आ गए,

तेरी मुरली की मैं हूँ गुलाम...

तेरी मुरली की मैं हूँ गुलाम, मेरे अलबेले श्याम। अलबेले श्याम मेरे मतवाले श्याम॥

^
top