रख लाज मेरी गणपति - भजन (Rakh Laaj Meri Ganpati)


रख लाज मेरी गणपति - भजन
Add To Favorites

रख लाज मेरी गणपति,
अपनी शरण में लीजिए ।
कर आज मंगल गणपति,
अपनी कृपा अब कीजिए ॥

रख लाज मेरी गणपति
रख लाज मेरी गणपति
सिद्धि विनायक दुःख हरण,
संताप हारी सुख करण ।

करूँ प्रार्थना मैं नित्त प्रति,
वरदान मंगल दीजिए ॥

रख लाज मेरी गणपति,
अपनी शरण में लीजिए।
कर आज मंगल गणपति,
अपनी कृपा अब कीजिए ॥
रख लाज मेरी गणपति

तेरी दया, तेरी कृपा,
हे नाथ हम मांगे सदा ।
तेरे ध्यान में खोवे मति,
प्रणाम मम अब लीजिए ॥

रख लाज मेरी गणपति,
अपनी शरण में लीजिए ।
कर आज मंगल गणपति,
अपनी कृपा अब कीजिए ॥
रख लाज मेरी गणपति

करते प्रथम तव वंदना,
तेरा नाम है दुःख भंजना ।
करना प्रभु मेरी शुभ गति,
अब तो शरण मे लीजिए ॥

रख लाज मेरी गणपति,
अपनी शरण में लीजिए।
कर आज मंगल गणपति,
अपनी कृपा अब कीजिए ॥

रख लाज मेरी गणपति
रख लाज मेरी गणपति

यह भी जानें

Bhajan Shri Ganesh BhajanShri Vinayak BhajanGanpati BhajanGanpati Bappa BhajanGaneshotsav BhajanWednesday BhajanGrah Pravesh BhajanChaturthi BhajanGanesh Chaturthi BhajanChaturdasi BhajanHari Om Sharan Bhajan

अन्य प्रसिद्ध रख लाज मेरी गणपति - भजन वीडियो

Ganpati Rakh Laaj Meri by Menuka Poudel

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन: भजन

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन, सुन लो मेरी पुकार । पवनसुत विनती बारम्बार...

भजन: राम का प्यारा है, सिया दुलारा है, हनुमान

राम का प्यारा है, सिया दुलारा है, संकट हारा है, हनुमान II

लाल लंगोटे वाले वीर हनुमान है: भजन

लाल लंगोटे वाले वीर हनुमान है, हनुमान गढ़ी में बैठे, अयोध्या की शान है..

वीरो के भी शिरोमणि, हनुमान जब चले: भजन

वीरो के भी शिरोमणि, बलवान जब चले, हनुमान जब चले

छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना: भजन

छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना, कहते लोग इसे राम का दिवाना..

इक काँधे पे लखन विराजे दूजे पर रघुवीर: भजन

इक काँधे पे लखन विराजे दूजे पर रघुवीर, वीर बलि महावीर हरी तुमने भक्तों की पीर ॥

मेरे राम इतनी किरपा करना, बीते जीवन तेरे चरणों में: भजन

मेरे राम मेरे घर आ जाना, शबरी के बेर तुम खा जाना, मुझे दर्शन अपने दिखा जाना, मुझे मुक्ति मिले अपने कर्मो से, मेरे राम इतनी कीरपा करना, बीते जीवन तेरे चरणों में ॥

मंदिर

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App