होलिका दहन | चैत्र नवरात्रि | आज का भजन! | भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

भजन: शंकर जी का डमरू बाजे


शंकर जी का डमरू बाजे
पार्वती का नंदन नाचे॥
बर्फीले कैलाशिखर पर जय गणेश की धूम
ओ जय हो...

शंकर जी का डमरू बाजे
पार्वती का नंदन नाचे
बर्फीले कैलाशशिखर पर जय गणेश की धूम
नाचे धिन धिन धिन्तक धिन॥
नाचे धिन धिन, नाचे धिन धिन, धिन्तक धिन्तक नाचे

मनमोहक, मनभावन, नटखट
मूषक गण भागे सरपट॥
विघ्न विनायक, संकट मोचन
वक्रतुंड कजरारे लोचन॥
झूमे गए बल गणेश
भक्तजनो की कटे कलेश॥
नाचे धिन धिन धिन्तक धिन॥
नाचे धिन धिन, नाचे धिन धिन, धिन्तक धिन्तक नाचे

सुनकर इतना ज्यादा शोर, पार्वती आई उस और
डरकर माता उमा के आगे दुम दबाकर मूषक भागे
पर अपनी धुन में मस्त गजानन
थिरक रहे है भूलके तन मैं

गणपति बाप्पा मोरया, मंगल मूर्ति मोरया

ये भी जानें

BhajanBhagwan Shiv BhajanMahadev Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

होली भजन: होली खेल रहे नंदलाल।

होली खेल रहे नंदलाल वृंदावन कुञ्ज गलिन में। वृंदावन कुञ्ज गलिन में...

आज बिरज में होरी रे रसिया।

आज बिरज में होरी रे रसिया। होरी रे होरी रे बरजोरी रे रसिया॥

मेरी झोली छोटी पड़ गयी रे!

मेरी झोली छोटी पड़ गयी रे, इतना दिया मेरी माता।

गोविन्द जय-जय, गोपाल जय-जय

गोविन्द जय-जय, गोपाल जय-जय। राधा-रमण हरि, गोविन्द जय-जय ॥ गोविन्द जय-जय...

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं।

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम।

भजन: सुबह सुबह ले शिव का नाम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे यह शुभ काम। शिव आयेंगे तेरे काम॥

भजन: शिव उठत, शिव चलत, शिव शाम-भोर है।

शिव उठत, शिव चलत, शिव शाम-भोर है। शिव बुद्धि, शिव चित्त, शिव मन विभोर है॥ ॐ ॐ ॐ...

तेरा पल पल बीता जाए!

तेरा पल पल बीता जाए, मुख से जप ले नमः शिवाय। ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय...

भजन: मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा

ॐ नमः शिवाय, सत्य है ईश्वर, शिव है जीवन, सुन्दर यह संसार है। तीनो लोक हैं तुझमे, तेरी माया अपरम्पार है॥

भजन: ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव

ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव, पालनहार परमेश्वर, विश्वरूप महादेव, महादेव, महादेव...

close this ads
^
top