Download Bhakti Bharat APP

मंगल गीत: हेरी सखी मंगल गावो री.. (Mangal Geet: Heri Sakhi Mangal Gavo Ri..)


मंगल गीत: हेरी सखी मंगल गावो री..

चोख पुरावो, माटी रंगावो,
आज मेरे पिया घर आवेंगे

खबर सुनाऊ जो,
खुशी ये बताऊँ जो,
आज मेरे पिया घर आवेंगे ॥

हेरी/ओरी सखी मंगल गावो री,
धरती अम्बर सजाओ री,
उतरेगी आज मेरे पिया की सवारी,
हेरी कोई काजल लाओ री,
मोहे काला टीका लगाओ री,
उनकी छब से दिखूं में तो प्यारी,
लक्ष्मी जी वारो , नजर उतारो,
आज मेरे पिया घर आवेंगे ॥

रंगो से रंग मिले, नए-नए ढंग खिले,
खुशी आज द्वारे मेरे डाले है डेरा,
पीहू पीहू पपीहा रटे,
कुहू कुहू कोयल जपे,
आँगन-आँगन है परियो ने घेरा,
अनहद नाद. बजाओ रे सब-मिल,
आज मेरे पिया घर आवेंगे ॥

चोख पुरावो, माटी रंगावो,
आज मेरे पिया घर आवेंगे

खबर सुनाऊ जो,
खुशी ये बताऊँ जो,
आज मेरे पिया घर आवेंगे ॥

Mangal Geet: Heri Sakhi Mangal Gavo Ri.. in English

Heri/Ori Sakhi Mangal Gaavo Ri, Dharti Ambar Sajao Ri | Chokh Puravo, Mati Rangavo, Aaj Mere Piya Ghar Aavenge
यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBrij BhajanRaas BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanKailash Kher BhajanSakhi Samvad Bhajan

अन्य प्रसिद्ध मंगल गीत: हेरी सखी मंगल गावो री.. वीडियो

Sadho Band

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

उठ जाग मुसाफिर भोर भई - भजन

उठ जाग मुसाफिर भोर भई, अब रैन कहाँ जो सोवत है।..

बीच भंवर में फसी मेरी नैया: भजन

बीच भंवर में फसी मेरी नैया, तुम्ही हो खिवैया माँ, तुम्ही हो खिवैया ॥

प्राणो से भी प्यारा, दादी धाम तुम्हारा: भजन

प्राणो से भी प्यारा, दादी धाम तुम्हारा, दर्शन कर हो जाता, ये जीवन सफल हमारा, तूने सबको तारा, सबका जीवन संवारा,
तेरे बिन कौन दादी, हम भक्तों का सहारा ॥

सज धज बैठ्या दादीजी, लुन राई वारा: भजन

सज धज बैठ्या दादीजी, लुन राई वारा, निजरा उतारा माँ की, निजरा उतारा, निजरा उतारा माँ की, निजरा उतारा ॥

जिस ओर नजर फेरूं दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है: भजन

जिस ओर नजर फेरूं दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है, सतियों में तू सिरमौर है माँ, साँचा ये द्वारा तेरा है, जिस ओर नजर फेरूँ दादी, चहुँ ओर नजारा तेरा है ॥

मैया तेरे चरणों की: भजन

मैया तेरे चरणों की, अम्बे तेरे चरणों की, गर धूल जो मिल जाए, सच कहती हूँ मैया, तक़दीर बदल जाए, मैया तेरे चरणो की ॥

साँसों की माला पे सिमरूं मैं, पी का नाम - भजन

साँसों की माला पे सिमरूं मैं, पी का नाम, अपने मन की मैं जानूँ, और पी के मन की राम, अपने मन की मैं जानूँ और पी के मन की राम ॥

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App