भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

हे करुणा मयी राधे!


हे करुणा मयी राधे,
मुझे बस तेरा सहारा है,
मुझे बस तेरा सहारा है,
अपना लो मुझे श्यामा,
तेरे बिन कौन हमारा है,
तेरे बिन कौन हमारा है,
हे करुणा मयी राधे,
मुझे बस तेरा सहारा है॥

कोई किसी का नहीं जहाँ में,
झूठी जग की आस,
झूठी जग की आस,
हम बेबस लाचारों की श्यामा,
तुम से यही अभिलाष,
तुम से यही अभिलाष,
दिनों पे कृपा करना,
यही स्वाभाव तुम्हारा है,
यही स्वाभाव तुम्हारा है,
हे करुणा मयी राधें,
मुझे बस तेरा सहारा है॥

गहरी नदिया नांव पुरानी,
डगमग डोले नैया,
डगमग डोले नैया,
बिच भवर में आन फसा हूँ,
पकड़ो मेरी बहियाँ,
पकड़ो मेरी बहियाँ,
कहीं डूब ना जाऊँ मैं,
किशोरी दूर किनारा है,
किशोरी दूर किनारा है,
हे करुणा मयी राधें,
मुझे बस तेरा सहारा है॥

तेरे दर पे जो भी आए,
उनको तुम अपनाती,
उनको तुम अपनाती,
गर्दिश के मारो की श्यामा,
बिगड़ी बात बनाती,
बिगड़ी बात बनाती,
हम जैसे अधमो का,
जीवन तुमने ही सवारा है,
जीवन तुमने ही सवारा है,
हे करुणा मयी राधें,
मुझे बस तेरा सहारा है॥

चित्र विचित्र अपने कर्मो से,
मन ही मन घबराए,
मन ही मन घबराए,
तेरी कृपा का ले के सहारा,
द्वार तुम्हारे आए,
द्वार तुम्हारे आए,
तेरे दर के सिवा मेरा,
कहीं नहीं और गुजारा है,
कहीं नहीं और गुजारा है,
हे करुणा मयी राधें,
मुझे बस तेरा सहारा है॥


Read Also
» दिल्ली मे कहाँ मनाएँ श्री कृष्ण जन्माष्टमी। | भोग प्रसाद
» श्री कृष्ण जन्माष्टमी - Shri Krishna Janmashtami
» दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर। | जानें दिल्ली मे ISKCON मंदिर कहाँ-कहाँ हैं? | दिल्ली के प्रमुख श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर।
» ब्रजभूमि के प्रसिद्ध मंदिर! | भारत के चार धाम
» आरती: श्री बाल कृष्ण जी | भोग आरती: श्रीकृष्ण जी | बधाई भजन: लल्ला की सुन के मै आयी!

BhajanShri Radha Rani BhajanBrij BhajanChitra Vichitra Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

माँ सरस्वती! मुझको नवल उत्थान दो।

मुझको नवल उत्थान दो । माँ सरस्वती! वरदान दो ॥ माँ शारदे! हंसासिनी...

हे वीणा वादिनी सरस्वती, हंस वाहिनी..

हे वीणा वादिनी सरस्वती, हंस वाहिनी सरस्वती, विद्या दायिनी सरस्वती...

माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं!

माँ शारदे कहाँ तू, वीणा बजा रही हैं, किस मंजु ज्ञान से तू...

माँ! मुझे तेरी जरूरत है।

माँ ! मुझे तेरी जरूरत है। कब डालोगी, मेरे घर फेरा, तेरे बिन, जी नहीं लगता मेरा...

मेरा हाथ पकड़ ले रे, कान्हा..

मेरा हाथ पकड़ ले रे, कान्हा दिल मेरा घबराये, काले काले बादल...

जय जय शनि देव महाराज!

जय जय शनि देव महाराज, जन के संकट हरने वाले। तुम सूर्य पुत्र बलिधारी...

ज्योत से ज्योत जगाते चलो...

ज्योत से ज्योत जगाते चलो, प्रेम की गंगा बहाते चलो, राह में आये जो दीन दुखी, सब को गले से लगते चलो...

तेरे द्वार खड़ा भगवान, भक्त भर...

तेरे द्वार खड़ा भगवान, भक्त भर दे रे झोली। तेरा होगा बड़ा एहसान...

भजन: तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये!

साँची ज्योतो वाली माता, तेरी जय जय कार। तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये, मैं आया मैं आया शेरा वालिये।

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं।

अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम।

close this ads
^
top