Hanuman Chalisa
Download APP Now - Hanuman Chalisa - Om Jai Jagdish Hare Aarti - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel -

पार होगा वही, जिसे पकड़ोगे राम - भजन (Paar Hoga Wahi Jise Pakdoge Ram)


पार होगा वही, जिसे पकड़ोगे राम - भजन
पार होगा वही,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा ॥
तिरना क्या जाने,
पत्थर बेचारे,
तिरने लगे तेरे,
नाम के सहारे,
नाम लिखते आ गए है,
पत्थर में प्राण,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।
पार होगा वहीँ,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा ॥

लंका जलाई,
लांघा समुन्दर,
राक्छस को मार आया,
छोटा सा बन्दर,
बस जपता रहा,
दिन रात तेरा नाम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएग ॥

पार होगा वहीँ,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा ॥

सुनकर के बाते,
मुस्काए राम जी,
मारे ख़ुशी के नाचे,
हनुमान जी,
भक्त देखा ना,
बनवारी तेरे समान,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा ॥

पार होगा वहीँ,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा ॥

पार होगा वही,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा ॥

Paar Hoga Wahi Jise Pakdoge Ram in English

Paar Hoga Wahi, Jise Pakdoge Ram, Jisko Chhodoge, Palbhar Mein Doob Jayega ॥
यह भी जानें

Bhajan Shri Ram BhajanHanuman Janmotsav BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navmi BhajanSita Navmi BhajanMahavir BhajanAwadh Ke Ram BhajanRam Naam Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

Whatsapp Channelभक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

प्रथम गणराज को सुमिरूं, जो रिद्धि सिद्धि दाता है: भजन

सुनो शंकर सुवन मुझको, अबुद्धि ज्ञान दे जाओ, अँधेरे में भटकते को, धर्म की राह दिखलाओ, धर्म की राह दिखलाओ,
‘अनिल’ विनती करे उनकी, विनायक जो कहाता है, प्रथम गणराज को सुमिरूं, जो रिद्धि सिद्धि दाता है ॥

भर दों झोली मेरी गणराजा: भजन

अब तो सुन ले मेरी हो गणराजा, आ लगा ले तू मुझको भी दिल से, जब तलक तू मिला दे ना बिछड़ी, दर से तेरे न जाए सवाली, भर दों झोली मेरी गणराजा, लौटकर मै ना जाऊंगा खाली ॥

तेरे दरशन को गणराजा, तेरे दरबार आए है: भजन

सुना है ताजे फूलों के, तुम्हे गजरे सुहाते है, सुना है ताजे फूलों के, तुम्हे गजरे सुहाते है, बागों से ‘सुमन योगी’, सुगन्धित फुल लाए है,
तेरे दरशन को गणराजा, तेरे दरबार आए है ॥

मूषक सवारी लेके, आना गणराजा: भजन

मूषक सवारी लेके, आना गणराजा, रिद्धि सिद्धि को ले आना, आके भोग लगाना, मेरे आंगन में, आंगन में, मुषक सवारी लेके, आना गणराजा ॥

गौरी नंदन थारो अभिनंदन, करे सारो परिवार: भजन

गौरी नंदन थारो अभिनंदन, करे सारो परिवार, गजानन आन पधारो, लड़ावा लाड़ मैं थारो, गजानन आन पधारो, लड़ावा लाड़ मैं थारो ॥

मंगल मूर्ति रूप लेकर गणपति जी आ गए: भजन

मंगल मूर्ति रूप लेकर गणपति जी आ गए, भक्त जनों के दिल पर देवा दूर दूर तक छा गए, गणपति बप्पा मोरया मंगलमूर्ति मोरया ॥

प्रार्थना है यही मेरी हनुमान जी: भजन

प्रार्थना है यही मेरी हनुमान जी, मेरे सर पर भी अब हाथ धर दीजिए, राम सीता का दर्शन कराके मुझे, मेरे सपने को साकार कर दीजिए,
प्रार्थना हैं यही मेरी हनुमान जी, मेरे सर पर भी अब हाथ धर दीजिए ॥

Hanuman Chalisa -
Ram Bhajan -
×
Bhakti Bharat APP