जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया: भजन (Jinka Maiya Ji Ke Charno Se Sabandh Hogaya)


जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया: भजन

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया ।
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

माँ की शक्ति को जो भी, प्रणाम करते,
माँ की भक्ति में मन को, जो भी रंगते ।
माँ की किरपा से तन मन प्रसन्न हो गया,
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया ।
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

जो भी श्रद्धा से आता माँ के दरबार में,
कभी ठोकरे ना खाए इस संसार में ।
उसका रास्ता बुराई का बंद हो गया,
उनके घर में आनंद ही, आनंद हो गया ॥

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया ।
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

माँ को ध्यानु ने ध्याया है सुर ताल से,
निकले भक्ति के स्वर उसकी खड़ताल से ।
माँ का गुणगान छैनो का छंद हो गया,
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया ।
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

माँ की ज्योति मिटाती है अंधकार को,
कोई विरला ही जाने लख्खा माँ के प्यार को,
ॐ शर्मा को दर ये पसंद हो गया,
उनके घर में, आनंद ही आनंद हो गया ॥

जिनका मैया जी के चरणों से संबंध हो गया ।
उनके घर में आनंद ही आनंद हो गया ॥

Jinka Maiya Ji Ke Charno Se Sabandh Hogaya in English

Jinka Maiya Ji Ke Charnon Se Sambandh Ho Gaya । Unke Ghar Mein Anand Hi Anand Ho Gaya ॥
यह भी जानें

Bhajan Maa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Sherawali BhajanDurga Puja BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday BhajanAshtami BhajanGupt Navratri BhajanSantoshi Maa BhajanLakhbir Singh BhajanLakkha Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

नमो नमो शिवाय: शिव भजन

नमो नमो जय, नमो शिवाय, कितने भोले मेरे शिव हैं, करते हैं कमाल शंकर.

बंसी वाले के चरणों में, सर हो मेरा: भजन

बंसी वाले के चरणों में, सर हो मेरा, फिर ना पूछो, कि उस वक़्त क्या बात है...

न्यू- मैं बालक तू माता: भजन

तो क्या जो ये पीड़ा का पर्वत, रास्ता रोक के खड़ा है, तेरी ममता जिस का बल वो..

मैं बालक तू माता शेरां वालिए: भजन

मैं बालक तू माता शेरां वालिए, है अटूट यह नाता शेरां वालिए...

मेरी माँ के बराबर कोई नहीं: भजन

तेरी ममता से जो गहरा हो, ऐसा तो सागर कोई नहीं, मेरी माँ के बराबर कोई नहीं..

हरी नाम सुमिर सुखधाम, जगत में: भजन

हरी नाम सुमिर सुखधाम, हरी नाम सुमिर सुखधाम, जगत में जीवन दो दिन का...

रखो हाथ ढाल तलवार मजबूती, जगदम्बा: भजन

रखो हाथ ढाल तलवार मुठ मजबूती, मुठ मजबूती ए धरदे रे जगदम्बा, राजपूतों में मजबूती..

मंदिर

Download BhaktiBharat App Go To Top